जहरीली शराब से हुई 15 मौतों पर 12 जिम्मेदारों पर गिरी गाज

Published: 21/05/2018 7:29 PM

लखनऊ ब्यूरो। उत्तर प्रदेश के कानपुर नगर व देहात में जहरीली शराब से हुई मौत की घटना में आबकारी व पुलिस विभाग के लापरवाह कर्मियों पर कार्यवाही तेज कर दी गई है। दोनों जनपदों में हुए इस घटनाक्रम में आबकारी निरीक्षकों सहित पांच लोगों को निलम्बित किया गया है। वहीं पुलिस अधीक्षक देहात ने सात पुलिस कर्मियों नपद में सचेंडी इलाके के दूल गांव में श्याम बालक यादव के शराब ठेके से बिक्री की गई जहरीली शराब ने सात लोगों की जान ले ली।

इस शराब से अभी भी कई पीडि़त लोग अस्पताल में आंखों की रोशनी गवांकर जिंदगी व मौत के बीच झूल रहे हैं। इस मामले में चल रही उच्चस्तरीय जांच में प्रथम दृष्टया आबकारी विभाग के अफसरों व कर्मियों की लापरवाही सामने आई है, जिसके चलते सोमवार को आबकारी निरीक्षक मनीष कुमार व प्रधान आबकारी सिपाही राम प्रकाश को निलम्बित कर दिया गया है। इससे पूर्व घटना के पहले ही दिन स्थानी आबकारी निरीक्षक कुलदीप कुमार को निलम्बित किया जा चुका है। नगर में अब तक इस प्रकरण में तीन लोगों पर कार्यवाही की जा चुकी है।

इसी तरह से कानपुर देहात जनपद के रूरा इलाके में मड़ौली गांव में जहरीली शराब की घटना में सोमवार दोपहर तक आठ लोगों की मौत की पुष्टि हो चुकी हैं। इसके अलावा करीब दजज़्नभर लोगों का इलाज अस्पातल में चल रहा है। घटना को गंभीरता से लेते हुए शासन ने कठोर कायज़्वाही के निदेज़्श दिये हैं। शासन के कड़े रूख को देखते हुए मामले में आबकारी निरीक्षक नंद कुमार, प्रधान आबकारी सिपाही अनिल दोहरे व आबकारी सिपाही नीलेश कुमार को निलम्बित कर उनके खिलाफ जांच के आदेश दिये गये हैं।

देहात में जहरीली शराब मामले में पुलिस उप महानिरीक्षक/पुलिस अधीक्षक रतनकांत पांडेय ने सख्त कार्यवाही की है। उन्होंने रूरा चौकी इंचार्ज राजीव कुमार सिंह, धर्मेद्र कुमार समेत तीन उपनिरीक्षक व चार सिपाहियों को तत्काल प्रभाव निलम्बित कर दिया है। इन सभी पुलिस कर्मियों के खिलाफ पुलिस उपाधीक्षक द्वारा गांव में जहरीली शराब की बिक्री को लेकर भूमिका की भी जांच कराई जा रही है। पुलिस अधीक्षक ने बताया कि अगर इन सभी पुलिस कमिज़्यों के खिलाफ जहरीली शराब बनाने वालों व बिक्री के मामले में साठगाठ या कोई और तथ्य सामने आये तो विभागीय स्तर पर इन सब पर कड़ी कार्यवाही की जाएगी।

इस तरह से जहरीली शराब के घटनाक्रम में अब तक आबकारी विभाग से जुड़े छह कर्मियों व पुलिस विभाग के सात कर्मियों के खिलाफ निलम्बिन की कार्यवाही की गई है। वहीं सपा नेता के नाती समेत 11 लोगों की अब तक गिरफ्तारी की जा चुकी है।

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया The Lucknow Tribune के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें...
-----------------------------------------------------------------------------------
E-Paper