जानिए पीएम मोदी के हाथ में पकड़े पोस्टर पर क्या लिखा था, कोरोना से लड़ने का सुझा दिया फॉर्म्युला

नई दिल्ली: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कोरोना वायरस के कहर से निपटने के लिए 15,000 करोड़ रुपए का प्रावधान करने का ऐलान किया है। प्रधानमंत्री ने कहा कि सरकार ने देश में स्वास्थ्य सेवा दुरुस्त करने और सक्षमता से कोरोना वायरस से निपटने के लिए 15,000 करोड़ रुपए का प्रावधान किया है।

प्रधानमंत्री मोदी ने कहा कि देश के हर राज्य को, हर केंद्र शासित प्रदेश को, हर जिले, हर गांव, हर कस्बे, हर गली-मोहल्ले को अब लॉकडाउन किया जा रहा है। उन्होंने कहा कि ये लॉकडाऊन एक तरह से कफ्र्यू ही है और एक-एक भारतीय के जीवन को बचाना है। मोदी ने एक सोशल मीडिया पर वायरल एक पोस्टर भी दिखाया और उसमें लिखे शब्दों को पढ़ते हुए पूरे देश से अपील की है कि 21 दिनों के लॉकडाउन के दौरान कोई भी व्यक्ति रोड पर न निकलें।

उन्होंने इस पोस्टर पर लिखे संदेश की काफी तारीफ भी की। पीएम ने जनता से अपील करते हुए कहा कि “कुछ लोगों की लापरवाही, कुछ लोगों की गलत सोच आपको, आपके बच्चों को, आपके माता पिता को, आपके परिवार को, आपके दोस्तों को, पूरे देश को बहुत बड़ी मुश्किल में झोंक देगी।”

नरेंद्र मोदी ने कहा कि निश्चित तौर पर इस लॉकडाउन की एक आर्थिक कीमत देश को उठानी पड़ेगी, लेकिन एक-एक भारतीय के जीवन को बचाना इस समय मेरी, भारत सरकार की, देश की हर राज्य सरकार की, हर स्थानीय निकाय की, सबसे बड़ी प्राथमिकता है। देशवासियों से अपील करते हुए पीएम मोदी ने कहा कि उनकी देशवासियों से प्रार्थना है कि आप इस समय देश में जहां भी हैं, वहीं रहें।

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया The Lucknow Tribune के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें...
Loading...
-------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ----------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
E-Paper