जानिए 15 जनवरी को क्या कहती है आपकी राशि, कैसा रहेगा आज आपका दिन

◆ 15 जनवरी 2018 का पंचांग◆

दिन-सोमवार

ऋतु-शिशिर

सूर्य-उत्तरायण

सूर्योदय-06:43

सूर्यास्त-05:17

राहूकाल(अशुभ समय)प्रातः07:30 से 09:00तक

तिथि-चतुर्दशी

पक्ष-कृष्ण

दिशाशूल-पूर्व व उत्तर

शुभमहूर्त-पश्चिम व दक्षिण

अभिजितमुहूर्त-दोपहर12:09से 12:51

अमृतमुहूर्त– प्रातः07 :15 से 08:34 तक

15 जनवरी को राशियों का प्रभाव

मेष:-आज आप का व्यापार उत्तम रहेगा किन्तु दुर्घटना से भी बचकर चलिएगा। बाहर के खान-पान की आदत के कारण स्वास्थ्य बिगड़ने की आशंका है।

सुझाव:-आज आप तिलोदक से स्नान करें व चावल व डाल का दान करें।

राशिरत्न:-मूँगा

शुभरंग:-फिरोजी

वृष:-आज आपका व्यवसाय उत्तम रहेगा,  प्रिय मित्रों और स्वजनों के साथ घूमने-फिरने से आनंद-उल्लास प्राप्त होगा। सुंदर वस्त्राभूषण और भोजन का अवसर भी आपको प्राप्त होगा, परंतु मध्याह्न के बाद स्वास्थ्य की ओर लापरवाही से बचें।

सुझाव:-आज आप गुड़ दही व खिचड़ी का दान करें।

राशिरत्न:-हीरा, ओपल

शुभरंग:-गुलाबी

मिथुन:-आज आपके परिवार का वातावरण उल्लासमय रहेगा। शारीरिक स्फूर्ति और मानसिक प्रसन्नता का अनुभव होगा। आपके अपूर्ण कार्य पूर्ण होने से आनंद में वृद्धि होगी। व्यावसायिक लाभ से मन प्रसन्न रहेगा।

सुझाव:-आज आप खिचड़ी व कंबल का दान करें।

राशिरत्न:-पन्ना

शुभरंग:-हरा

कर्क:-आज आपको एकाग्रतापूर्वक कार्य करें कार्य में सफलता अवश्य मिलेगी। किसी के साथ वाद-विवाद न कीजिएगा। विद्यार्थियों के लिए समय अनुकूल है। पारिवारिक वातावरण में शांति बनी रहेगी।यात्रा से मध्यम लाभ मिलेगा।

सुझाव:-आज आप खिचड़ी व उनी वस्त्र गरीबों में बाटे ।

राशिरत्न:-मोती

शुभरंग:-बादामी

सिंह:-आज आप का व्यापार मध्यम गति से लाभ देगा।शारीरिक और मानसिक रूप से अस्वस्थ रह सकते हैं। आर्थिक रूप से हानि हो सकती है। मध्याह्न के बाद आप को आर्थिक लाभ मिल सकता है।

सुझाव:-आज आप खिचड़ी व दही का दान दक्षिणा के साथ करें।

राशिरत्न:-माणिक्य

शुभरंग:-आसमानी

कन्या:-आज आप का व्यापर सामान्य रहेगा, रहस्य और अध्यात्म के प्रति आपका अधिक आकर्षण हो सकता है आर्थिक रूप से लाभ होने की संभावना है। नए कार्य का प्रारंभ करने के लिए समय शुभ है। प्रियजनों के साथ मुलाकात होगी। आपके विरोधियों पर आप विजय प्राप्त कर सकेगें।

सुझाव:-आज आप खिचड़ी का दान करें।

राशिरत्न:-पन्ना

शुभरंग:-मटमैला

तुला:-आज आप प्रसन्नता का अनुभव करेंगे। आर्थिक रूप से लाभ होगा। भाग्यवृद्धि के संकेत हैं। कार्य में सफलता प्राप्त होगी।कृषिकार्यों में मनोनुकूल सफलता की संभावना है। पुत्र लाभ व यश की प्राप्ति हो सकेगी।

सुझाव:-आज आप भांजे या भांजी को उनीवस्त्र दान करें।

राशिरत्न:-हीरा, ओपल

शुभरंग:-धानी

वृश्चिक:-आज व्यापर में काम चलाऊं प्रगति रहेगी। परिवार का वातावरण हर्षोल्लासपूर्ण रहेगा। मध्याह्न के बाद नकारात्मक विचार आपको परेशान कर सकते हैं। आपकी वाणी या वर्तनी से परिजनों में से किसी को दुःख पहुंच सकता है।

सुझाव:-आज आप चूड़ा व दही ,गुड़ का दान करें।

राशिरत्न:-मूँगा

शुभरंग:-हल्का गुलाबी

धनु:-आज परिजनों के साथ संबंधों में कुछ कड़वाहट उत्पन्न हो सकती है। शारीरिक और मानसिक रूप से आप अस्वस्थ रहेंगे। शल्यक्रिया करने जैसे कार्यों को आज टालिएगा। मध्याह्न के बाद कार्य में सफलता प्राप्त होगी।

सुझाव:-आज आप आदित्य हृदय का पाठ करें।

राशिरत्न:-पुखराज

शुभरंग:-स्लेटी

मकर:-आज सामाजिक रूप से ख्याति प्राप्त होने से आपको व्यवसायिक, आर्थिक तथा सामाजिक रूप से लाभदायी दिन है। मध्याह्न के बाद सावधानी बरते। वाहन चलाते समय सावधानी रखिएगा।

सुझाव:-आज आप उड़द की दाल व चावल दक्षिणा के साथ दान करें।

राशिरत्न:-नीलम

शुभरंग:-पर्पल

कुंभ:- आपका मान-सम्मान बढेगा और धनलाभ होगा। प्रत्येक कार्य सरलतापूर्वक संपन्न होगा। कार्यालय में अधिकारियों को आपके कार्य से संतोष रहेगा और पदोन्नति के योग हैं। मित्रों के साथ पर्यटन पर जाने का आयोजन हो सकता है।

सुझाव:-आज आप गरीब बच्चों में ऊंनी वस्त्र दान करें।

राशिरत्न:-नीलम

शुभरंग:-श्वेत

मीन:-आज आप का व्यापार अपने नई व्यवस्था को पायेगा आर्थिक लाभ के साथ साथ सम्मान भी मिलेगा। अपूर्ण कार्य पूर्ण होंगे। व्यापार के सम्बंध में कहीं दूर जाना पड़े ऐसी संभावना है।पारिवारिक वातावरण उत्तम रहेगा।

सुझाव:-आज आप हल्दी, चावल, दाल व नमक का दान करें।

राशिरत्न:-पुखराज

शुभरंग:-महरून

।।दिन का विशेष महत्व।।

  1. आज शिशिर ऋतु माघ माह कृष्णपक्ष तिथि चतुर्दशी है।
  2. आज मकर संक्रान्ति खिचड़ी पर्व है
  3. आज अपने भांजे , भांजी अथवा बहन और ये न मिले तो सुयोग्य ब्राम्हण को वस्त्र, मीठा ,ताम्बूल और कम्बल आदि दान का अतुलनीय महत्व

है।

  1. आज गंगा ,सरयू,यमुना आदि नदियों में स्नानादि का विशेष महत्व व पुण्यफल मिलता है।

।।प्रेरणा दाई चौपाई।।

राम चरन पंकज प्रिय जिन्हही।
विषय भोग बस करहिं कि तिन्हही।।

अर्थ:-गोस्वामी तुलसीदास जी श्री रामचरितमानस जी मे अयोध्या वासियों के बारे में व प्रभू के भक्तों बारे में वर्णन करते है कि जिनको भगवान के चरणों कमलों मे प्रेम है उनको संसार का कोई भी विषय विष अपने वश में नहीं कर सकता।
“अस्तु भगवत भक्ति सहज निष्कपट प्रेम से सर्व सिद्धि दायक हो जाती है। हम सब को भी स्वर्थ रहित प्रेम करना चाहिए।”

।।वास्तु टिप विशेष।।

पुराना ,आग से जला हुवा, बारिस इत्यादि के कारण सड़ा हुवा मकान मरम्मत कर के फिर से निवास योग्य बनाये जाने के पश्चात प्रवेश हेतु कार्तिक , मार्गशीर्ष, श्रावण माह में स्वाति, धनिष्ठा अथवा शतभिषा नक्षत्र शुभ होता है। वृहस्पति शुक्रअस्त होने पर भी इस प्रकार के मकान में पुनः प्रवेश करने से कोई फर्क नही पड़ता ।

।।इति शुभम्।।

 

 

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया The Lucknow Tribune के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें...
Loading...
-------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ----------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
E-Paper