जानें एक ऐसे अनोखे आइलैंड के बारें में जहां सड़कों से लेकर घरों तक नजर आते हैं केकड़े ही केकड़े

नई दिल्ली: ऑस्ट्रेलिया में क्वींसलैंड नाम का एक आइलैंड है जहां हर जगह केकडे ही केकड़े नजर आते है। सड़कों से लेकर घरों तक हर जगह ऐसा लगता है जैसे लाल रंग की चादर बिछाई हो। इस आइलैंड पर 12 करोड़ केकड़ों का जमावड़ा हर साल नजर आता है। ये केकड़े जंगल, इंसानों के घर, रेस्तरां, बार, बस स्टॉप, सड़कें और न जाने कितनी ही जगह पर दिखाई देते हैं। ये केकड़े हर साल प्रजनन करने के लिये क्रिसमस द्वीप के एक छोर स्थ‍ित जंगल से दूसरे छोर स्थ‍ित भारतीय महासागर तक का सफर तय करते हैं।

सड़कें इन केकड़ों की वजह से पूरी तरह लाल हो जाती है। हर साल हजारों केकड़े सड़क पर वाहनों के नीचे आकर मर भी जाते हैं। ऑस्ट्रेलिया के क्रिसमस द्वीप पर 12 करोड़ केकड़ों का जमावड़ा हर साल नजर आता है। ये केकड़े जंगल, इंसानों के घर, रेस्तरां, बार, बस स्टॉप, सड़कें और न जाने कितनी ही जगह पर दिखाई देते हैं। हर साल हजारों केकड़े सड़क पर वाहनों के नीचे आकर मर भी जाते हैं। यह द्वीप 52 वर्गमील क्षेत्रफल का है और इसकी आबादी करीब 2000 लोगों की है। इसके बावजूद भी बड़ी संख्या में लोग इन केकड़ों को देखने पहुंचते हैं।

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया The Lucknow Tribune के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें...
Loading...
-------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ----------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
E-Paper