झारखंड में बड़े भाई समेत परिवार के पांच लोगों की कुल्हाड़ी से काटकर हत्या

सरायकेला: झारखंड में सरायकेला -खरसांवा जिले के कपाली थानांतर्गत पुरिसिली गांव के सरदार टोला में शुक्रवार देर रात शराब के नशे में धुत एक व्यक्ति ने अपने बड़े भाई समेत परिवार के पांच लोगों की निर्मम हत्या कर दी। इतना ही नही हत्या करने के बाद उसने भाई के घर को आग लगाकर जलाने की कोशिश की लेकिन तब तक आसपास मौजूद लोगों ने उसके इस प्रयास को विफल कर दिया। इसके बाद घटना की जानकारी कपाली थाने में दी। सूचना पर पहुंची पुलिस ने आरोपित को गिरफ्तार कर शवों को पोस्टमार्टम के लिए अस्पताल भेज दिया है। पुलिस ने मामले की जांच भी शुरू कर दी है।

पुलिस के अनुसार मृतकों की पहचान रवि सोरेन, उसकी पत्नी कल्पना सोरेन, पुत्र जितेन व उसकी दो पुत्री के रूप में हुई है। आरोपित चुनू सोरेन ने शुक्रवार देर रात कुल्हाड़ी से वार कर अपने बड़े भाई रवि सोरेन समेत परिवार के पांच लोगों की निर्मम हत्या कर दी। इस घटना के बाद ग्रामीणों ने चुनू सोरेन को पकड़ लिया और कपाली थाना पुलिस को इसकी सूचना दी। सूचना मिलते ही घटनास्थल पर पहुंचे थाना प्रभारी ने हत्यारे छोटे भाई को तुरंत गिरफ्तार कर लिया। साथ ही शव को पोस्टमार्टम के लिए एमजीएम अस्पताल जमशेदपुर भेज दिया।

गाजीपुर में कमरे में रस्सी के सहारे लटकता मिला महिला का शव

ग्रामीणों ने बताया कि चुनू सोरेन मानसिक रूप से विक्षिप्त था और शराब की नशे में धुत था। घटना के वक्त घर के सभी सदस्य सोए हुए थे। पूछताछ के दौरान चुनू ने पुलिस को बताया कि उसने मजाक में ऐसा किया है। घटना की जानकारी मिलते ही जिले के एसपी चंदन सिन्हा समेत कई पुलिस अधिकारी घटनास्थल पर पहुंचे व लोगों से इसकी विस्तृत जानकारी ली। उन्होंने बताया कि प्रथम दृष्टया यह जमीन विवाद से जुड़ा मामला लग रहा है। पुलिस इसे गंभीरता से लेकर जांच कर रही है।

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया The Lucknow Tribune के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें...
Loading...
-------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ----------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
E-Paper