झारखंड मॉब लीचिंग मामला: अब महिलाओं को मिली दुष्कर्म की धमकी

रांची: झारखंड में अपराधियों के हौसंले किस कदर बुलंद है इसका एक जीता जागता उदाहरण आज देखने को मिला है. सूबे के सरायकेला जिला में भीड़ द्वारा चोरी के आरोप में तबरेज अंसारी की पीट-पीट कर हत्या कर दी गई. इस मामले को लेकर तबरेज अंसाली के साथ सहानुभूति रखने वाली कुछ महिलाओं को दुष्कर्म की धमकी दी जा रही है. पुलिस ने गुरुवार को यह जानकारी दी.

पुलिस अधीक्षक (एसपी) कार्तिक एस. ने जानकारी देते हुए कहा है कि सरायकेला पुलिस स्टेशन में कुछ महिलाओं ने एक मामला दर्ज कराया है. उन्होंने कहा कि उन्हें दुष्कर्म और अन्य परिणाम भुगतने की धमकी दी गई है. हम मामले की जांच कर रहे हैं.’ स्थानीय मीडिया के अनुसार, ऑल इंडिया मजलिस-ए-इत्तेहादुल मुस्लमीन (एआईएमआईएम) का झंडा लिए लगभग 20 लोगों ने धतकिडीह गांव में जाकर महिलाओं को धमकाया. इसी गांव में लिंचिंग की घटना हुई थी. उन्होंने मंदिरों से धार्मिक झंडे भी हटा दिए और एआईएमआईएम प्रमुख असदुद्दीन ओवैसी के समर्थन में नारेबाजी की. पुलिस ने इसमें एआईएमआईएम की भूमिका की पुष्टि नहीं की है लेकिन उसने कहा कि जांच चल रही है.

8,999 रुपये में लांच हुआ LG का यह स्मार्टफोन, ट्रिपल कैमरा सेटअप के साथ 4000 mAh बैटरी है मौजूद

धतकिडीज गांव में अंसारी (22) को बाइक चुराने के शक में बुरी तरह पीटा गया था इसके बाद 23 जून को एक अस्पताल में उसकी मौत हो गई थी. पुलिस के अनुसार, उसके कब्जे से चोरी की मोटरसाइकिल तथा कुछ अन्य वस्तुएं बरामद की गई थीं. यह मामला एक वीडियो के वायरल होने के बाद प्रकाश में आया, जिसमें आरोपी पंकज मंडल पेड़ से बंधे तबरेज अंसारी को पीटते हुए दिख रहा है. मॉब लिंचिंग का मामला विशेष जांच टीम (एसआईटी) के पास भेज दिया गया है. अब तक पांच आरोपी गिरफ्तार किए गए हैं दो पुलिसकर्मियों को निलंबित किया गया है.

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया The Lucknow Tribune के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें...
Loading...
-------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ----------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
E-Paper