ठंडक दे भरपूर, बिल की टेंशन रहे दूर

नई दिल्ली: गर्मी का मौसम में अगर एसी की हवा का साथ मिल जाए, तो सारी समस्या खत्म हो जाती है। लेकिन जितना सुकून एसी की हवा देती है, बिजली का बिल उतना ही परेशान करने वाला होता है। दरअसल, एसी के साथ सबसे बड़ी समस्या बिजली बिल की ही है। लेकिन अब आपको परेशान होने की जरूरत नहीं है। अगर आप थोड़ा ज्यादा खर्च करने की क्षमता रखते हैं, तो बिना बिजली बिल के ठंड का आनंद ले सकते हैं। इसके लिए आप सोलर एसी खरीद सकते हैं।

इस एसी का मेंटीनेंस खर्च भी बिजली से चलने वाले एसी के मुकाबले काफी कम है। बाजार में कई एसी कंपनियां हैं जो सोलर एसी उपलब्ध कराती हैं। इस एसी के साथ कंपनियां आपको सोलर पैनल प्लेट और डीसी से एसी कन्वर्टर भी देती हैं, जिससे आप बिना बिजली के भी एसी का उपयोग कर सकें। पिछले दिनों वीडियोकॉन कंपनी ने भी ऐसा ही एसी लॉन्च किया है। वीडियोकॉन का यह हाइब्रिड सोलर एसी है, जो सूरज की रोशनी से ही ऊर्जा प्राप्त करता है। ऐसे में यह पर्यावरण को नुकसान से बचाने वाला भी है। देश में ऐसा पहली बार हुआ है जब किसी कंपनी ने सोलर पावर से चलने वाला एयर कंडीशनर पेश किया है। आइए आपको बताते हैं सोलर एसी की कार्यप्रणाली के बारे में।

इनमें सोलर पैनल प्लेट को खुली जगह पर लगाया जाता है, जिस पर सूरज की किरणें पड़ें। डीसी बैटरी के जरिए इलेक्ट्रिक करेंट पैदा करता है और इसकी मदद से एसी कन्वर्टर के जरिए ठंडी हवा मिलती है। एक टन के स्पिलिट सोलर एसी की कीमत 99 हजार और 1.5 टन के सोलर एसी की कीमत 139000 रुपए है। इसमें सोलर पैनल, सोलर इन्वर्टर और सभी असेसरीज शामिल हैं। यह सिर्फ एक बार का खर्च होगा। इसके बाद आपको किसी भी तरह का कोई खर्च नहीं करना पड़ेगा। बाजार में हाईब्रिड सोलर एसी भी मौजूद हैं, जिन्हें 5 स्टार रेटिंग दी गई है। इसमें पॉवर के तीन ऑप्शन हैं- पहला सोलर पॉवर, दूसरा बैटरी बैंक और तीसरा इलेक्ट्रिसिटी ग्रिड।

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया The Lucknow Tribune के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें...
Loading...
-------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ----------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
E-Paper