डेंगू जैसी बीमारी से करना चाहते हैं बचाव तो इस ख़ास बातों का हमेशा रखें ध्यान

मानसून के मौसम में सर्दी जुखाम होने के आलवा यदि किसी और चीज का खतरा लोगों को सबसे ज्यादा रहता है तो वो है डेंगू. इस मौसम में ख़ास करके मच्छरों की तादाद काफी बढ़ जाती है जिस वजह से डेंगू की बीमारी आम हो जाती है. एक ख़ास प्रकार के मच्छर के काटने से होने वाली ये बीमारी जितनी आम है उतनी ही खतरनाक भी है. डेंगू एक ऐसी बीमारी है जिसका यदि समय रहते ही रोकथाम ना किया जाए तो ये मरीज की जान भी ले सकती है. आज हम आपको इस पोस्ट के जरिये डेंगू से बचाव के लिए कुछ ख़ास बातें बताने जा रहे हैं जिनका यदि आप ध्यान रखें तो इससे आप खुद को और अपने परिवार को डेंगू के प्रकोप से बचा सकते हैं.

सबसे पहले आपको बता दें की जो लोग डेंगू से बचने के लिए रात को मच्छर से बचने का इंतजाम करते हैं उन्हें ये समझना चाहिए की डेंगू के मच्छर रात में नहीं बल्कि दिन में काटते हैं इसलिए डेंगू से बचाव के लिए आपको मानसून के मौसम में विशेष रूप से दिन में भी बचाव के इंतजाम करने चाहिए. बता दें की डेंगू एडीज एजिप्टी नाम के मच्छर के काटने से होता है जो की शरीर में मौजूद ब्लड प्लेत्ल्लेट्स को काफी गिरा देता है जिससे यदि वक़्त रहते रिकवर ना किया जाए तो मरीज की मौत भी हो सकती है. जहां तक डेंगू के लक्षणों का सवाल है तो बता दें की डेंगू होने पर मरीज को तेज बुखार, सिरदर्द, आखों में जलन और बॉडीपेन की समस्या होती है. ये सभी डेंगू में होने वाले शुरुवाती लक्षणों के रूप में जाने जाते हैं, इस मौसम में इन लक्षणों को पहचानकर यदि वक़्त रहते ही डेंगू का इलाज कर लिया जाए इसके खतरनाक प्रभावों से काफी हद तक बचा जा सकता है.

जैसा की हम आपको पहले ही बता चुके हैं की डेंगू के मच्छर ज्यादातर दिन के समय ही काटते हैं तो इसलिए ख़ास करके दिन के समय इस बात का ख़ास ख्याल रखें की मच्छर आपके घर के आस पास भी ना हो. बता दें की डेंगू का मच्छर से बचाव के लिए घर के आँगन में यदि तुलसी के पौधे लगे हों तो ये काफी लाभदायक माना जाता है क्यूंकि तुलसी का पौधा एक आयुर्वेदिक गुणों से भरपूर होता है इसलिए इसके आसपास भी मच्छर नहीं आते हैं. इसके आलवा अगर आपके घर में मच्छर ज्यादा हों तो सुबह या शाम किसी भी वक़्त घर के सभी खिड़की दरवाजे बंद करके घर के अंदर करीबन 15 से 20 मिनट के लिए कर्पुर जलाकर छोड़ दें, इससे घर के सभी कोनों में छुपे हुए मच्छर भी बाहर आ जाते हैं और उनका खात्मा हो जाता है. अगर आपके घर में कोई छोटा बच्चा है तो उसके सुलाने के लिए मच्छरदानी का इस्तेमाल जरूर करें क्यूंकि छोटे बच्चों पर डेंगू के मच्छर ज्यादा अटैक करते हैं. मानसून के मौसम में सुबह और शाम को बाहर घुमने जाने से बचें क्यूंकि घर के बाहर भी मच्छरों का आतंक जारी रहता है जो आपको नुकसान पहुंचा सकता है.

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया The Lucknow Tribune के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें...
Loading...
-------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ----------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
E-Paper