त्योहारों पर दमकें

लखनऊ: करवा चौथ और दिवाली के खूबसूरत पर्व में खुद को भी उसी खूबसूरती से पेश करना हर किसी का सपना होता है। चाहे करवा चौथ हो या मां लक्ष्मी की पूजा के साथ घर की लक्ष्मी यानी महिलाएं इस दिन को हर्षोल्लास के साथ मनाती हैं। दिवाली पर घरों के साथ आपको भी खास लुक देने के लिए बाजार में तरह-तरह के ड्रेस मैटेरियल आए हुए हैं। इस दिन क्या पहनें कि आप सबसे खास लुक में दिखें, बता रही हैं मधु निगम

दिवाली का त्योहार नजदीक है। ऐसे में क्या आपने सोच लिया है कि इस खूबसूरत त्योहार में ड्रेसअप कैसे हुआ जाए? अगर नहीं, तो परेशान न हों। आज हम आपको हर साल पहनने वाले कपड़ों से हटकर कुछ अलग आउटफिट के बारे में बताने जा रहे हैं।

चूड़ीदार सलवार-कमीज : पारंपरिक लुक के साथ स्मार्ट लुक में नजर आना है, तो इस दिवाली चूड़ीदार सलवार-कमीज बेहतर ऑप्शन है। हालांकि चूड़ीदार सलवार-कमीज बहुत पहले से फैशन में है, लेकिन इस समय बाजारों में अलग- अलग स्टाइल और रंगों में उपलब्ध हैं। अभी फैशन में शिफॉन और नेट की बहार है। इसके साथ कुछ नियॉन कलर जैसे पिंक, ब्लू और ग्रीन जैसे रंग भी ट्रेंड में छाए हैं। इसके अलावा इन दिनों पटियाला सलवार के ऊपर शॉर्ट कुर्ती पहनने का फैशन काफी चल रहा है। आप चाहें तो नारंगी, हरा, नीला, गुलाबी जैसे रंगों का सेलेक्शन कर सकती हैं।

अनारकली सूट : अनारकली सूट में हैवी और लाइट हर तरह के ऑप्शन हैं। डिजाइनर्स ने अनारकली में कई तरह के प्रयोग करके इसे नया लुक दिया है। इसके डिजाइंस के साथ घेरे और सूट की लंबाई में भी इस बार कई तरह के आप्शन उपलब्ध हैं। इसके अलावा आजकल एथनिक जैकेट के साथ भी अनारकली को मैच करके पहनने का फैशन भी जोरों पर है।

इंडो-वेस्टर्न अपेरेल : इस दिवाली खास लुक में दिखने के लिए इंडो-वेस्टर्न लुक ट्राई किया जा सकता है। अभी कामदार लॉन्ग स्कर्ट के साथ शॉर्ट स्लीवलेस टॉप काफी चलन में है। इसके अलावा अगर आप इंडियन लुक में वेस्टर्न टच जोडऩा चाहती हैं, तो मैक्सी और गाउन आपके लिए एक सही सेलेक्शन रहेगा। यह ड्रेस आपको एक मॉडर्न लेडी दर्शाने के साथ ट्रेडिशनल टच भी देती है।

चुनें डिजाइनर साडिय़ां : साड़ी पहनकर महिलाएं सबसे ज्यादा खूबसूरत नजर आती हैं, इसीलिए साड़ी का क्रेज कभी कम नहीं होता। वैसे भी दिवाली के खास मौके पर डिजाइनर साडिय़ों की बाजार में बहार है। हां, समय के साथ इन्हें पहनने का अंदाज जरूर बदलता रहा है। हालांकि साड़ी का सेलेक्शन करते वक्त ध्यान रखें कि गलत कपड़ा और डिजाइन चुनने से कपड़े शरीर पर नहीं फबते। इसलिए अगर आपके शरीर का ऊपरी हिस्सा भारी है और निचला हिस्सा पतला है, तो ऐसी शारीरिक बनावट वालों पर एंब्रॉयडरी वाली साडिय़ां जचेंगी। सिल्क साडिय़ां भी आप पर फबेंगी। जॉर्जेट या नेट की साड़ी पहनने से बचें, क्योंकि इनसे आपका ऊपरी हिस्सा ज्यादा बड़ा नजर आएगा।

अगर आपका साइज प्लस है, तो बहुत ज्यादा ट्रांसपेरेंट साड़ी पहनने से बचें। शिफॉन, जॉर्जेट, सिल्क की लाइटवेट साड़ी पहनें। इन्हें पहनकर आप स्लिम नजर आएंगी। जिन महिलाओं के शरीर का निचला हिस्सा ऊपर के हिस्से से भारी होता है, उन्हें जॉर्जेट या शिफॉन की साड़ी पहननी चाहिए। यह आपके शरीर को संतुलित दिखाता है। अगर आपके शरीर का ऊपरी और निचला हिस्सा कर्वी न होकर अपेक्षाकृत फ्लैट है, तो आप कॉटन, सिल्क, ऑर्गेंजा, हैवी एंब्रॉयडरी या लहंगा साड़ी अपने लिए ले सकती हैं।

इसके अलावा गर आप स्लिम-ट्रिम हैं, तो हैवी फैब्रिक, जैसे- ब्रोकेड, सिल्क, कॉटन आदि की साड़ी पहन सकती हैं। यदि आप बहुत पतली हैं, तो हेल्दी नजर आने के लिए ऑर्गेंजा आदि साडिय़ां ट्राई कर सकती हैं। यदि आप पतली और लंबी हैं, तो बड़े, बोल्ड, अट्रैक्टिव प्रिंट्स या मोटीफवाली साड़ी पहनकर बहुत खूबसूरत नजर आएंगी। छोटे कद की महिलाएं ऐसी साड़ी पहनें, जो फिट आए और हल्के कपड़े की हो। बोल्ड प्रिंट्स और हैवी बॉर्डर्स से परहेज करें। पतले बॉर्डर्स से आपकी हाइट लंबी लगेगी।

पुरुषों के पास भी हैं ढेरों ऑप्शन : त्योहार डल कलर्स को बाय-बाय और ब्राइट शेड्स को हैलो कहने के लिए होते हैं। मौका हो दिवाली का तो पुरुषों के लिए शेरवानी, डिजाइनर कुर्तों से बाजार पट गए हैं। वैसे इन दिनों इंडो-वेस्टर्न सूट भी फैशन में है, जो बहुत कुछ शेरवानी का लुक देते हैं और आपके ट्रेडिशनल लुक में क्लासी टच देते हैं। इसके अलावा बाजार में एक से बढ़कर एक रंग में कुर्ता-पाजामा भी ट्रेंड में हैं। इन्हें पहनकर आप फेस्टिवल लुक में नजर आएंगे।

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया The Lucknow Tribune के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें...
Loading...
-------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ----------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
E-Paper