दबंगों को बचा पुलिस ने दिव्यांग दलित को फंसाया

Published: 13/06/2018 12:40 PM

बांदा: उत्तर प्रदेश में बांदा जिले की पुलिस की कार्रवाई हैरान करने वाली है। दबंगों के कथित हमले से आहत बिसंड़ा थाना क्षेत्र के तेंदुरा गांव के जिस दिव्यांग दलित परिवार ने कुछ दिन पूर्व धर्म परिवर्तन करने की चेतावनी दी थी, बिसंड़ा पुलिस ने उसे ही शांति भंग करने के अपराध में फंसा दिया है और उन दबंगों पर मेहरबान हो गई है।

पीड़ित दिव्यांग दलित संतोष कोरी ने बुधवार को बताया कि गांव के कुछ दबंगों ने 24 मई को उसके घर की महिलाओं पर हमला किया था, पुलिस द्वारा मुकदमा दर्ज नहीं करने पर वह अपर जिलाधिकारी और अपर पुलिस अधीक्षक के समक्ष पेश होकर धर्म परिवर्तन किए जाने की चेतावनी दी थी।

उसने बताया कि मामले की जांच पुलिस क्षेत्राधिकारी बबेरू और स्थानीय अभिसूचना इकाई (एलआईयू) ने की थी, लेकिन अभी तक दबंगों के खिलाफ मुकदमा नहीं दर्ज किया गया। उलटे बिसंड़ा पुलिस ने उसके ही खिलाफ शांति भंग का अपराध दर्ज किया है। पीड़ित ने कहा कि पुलिस संरक्षण से दबंगों के हौसले बुलंद हैं और 22 जून को होने जा रही उसके भतीजे की शादी में खलल डाल सकते हैं।

पुलिस क्षेत्राधिकारी बबेरू ओमप्रकाश ने बताया कि एक खंडहरनुमा पुराने मकान की जमीन को लेकर दोनों पक्षों में विवाद हुआ था, जांच रिपोर्ट उच्चाधिकारियों को भेज दी गई है, अभी तक ऊपर से कोई आदेश नहीं आया। दलित के खिलाफ शांति भंग की कार्रवाई किए जाने की जानकारी नहीं है। एलआईयू के इंस्पेक्टर धर्मपाल सिंह ने बताया कि मामले की विस्तृत रिपोर्ट उच्चाधिकारियों को सौंपी गई है, आगे की कार्रवाई संबंधित अधिकारी करेंगे।

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया The Lucknow Tribune के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें...
-----------------------------------------------------------------------------------
loading...
E-Paper