दिग्विजय सिंह ने की पीएम मोदी की तुलना हिटलर और मुसोलिनी से

दिल्ली ब्यूरो: कांग्रेस के वरिष्ठ नेता दिग्विजय सिंह ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की तुलना एडोल्फ हिटलर और बेनिटो मुसोलिनी जैसे तानाशाहों से की है। उन्होंने यह भी कहा है कि दुनिया को ‘इस तरह’ के नेताओं की कोई जरूरत नहीं है। कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी के एक ट्वीट को रीट्वीट करते हुए दिग्विजय सिंह ने यह भी कहा है, ‘मैं राहुल जी से पूरी तरह सहमत हूं। दुनिया को प्रेम और शांति की जरूरत है। सनातन समय से जिसका संदेश गौतम और महावीर ने दिया है। ’ उन्होंने आगे कहा, ‘दुनिया को महात्मा गांधी और मार्टिन लूथर किंग जैसे नेताओं की जरूरत है जिन्होंने सत्य और अहिंसा का संदेश दिया।’

इससे पहले इसी शुक्रवार को न्यूजीलैंड में एक मस्जिद के बाहर हुई गोलीबारी की घटना पर राहुल गांधी ने एक ट्वीट के जरिये शोक जाहिर किया था और उस घटना की निंदा करते हुए यह भी कहा था कि दुनिया को कट्टरता और नफरत से भरे चरमपंथ के बजाय दया और समझ की जरूरत है। उसी ट्वीट में राहुल गांधी ने गोलीबारी में घायल हुए लोगों के जल्द स्वस्थ होने की कामना भी की थी।

एक बार फिर कांग्रेस ने गोवा में सरकार बनाने का दावा पेश किया

बता दें कि जर्मनी के एडोल्फ हिटलर व इटली के बेनिटो मुसोलिनी जैसे तानाशाहों को द्वितीय विश्वयुद्ध शुरू करने के लिए भी जिम्मेदार ठहराया जाता है। साल 1939 से शुरू होकर 1945 तक चले उस विश्वयुद्ध में जान और माल का भारी नुकसान हुआ था। इधर कांग्रेस के कई नेताओं की तरफ से पहले भी नरेंद्र मोदी की उन तानाशाहों के साथ तुलना की जा चुकी है बीते साल कांग्रेस के वरिष्ठ नेता मल्लिकार्जुन खड़गे ने हिटलर के साथ मोदी की तुलना की थी। साथ ही नरेंद्र मोदी को तानाशाह बताते हुए यह भी कहा था कि वे भारत के संविधान को खत्म कर देना चाहते हैं।

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया The Lucknow Tribune के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें...
Loading...
-------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ----------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
E-Paper