दिल्ली-एनसीआर में भूकंप के हल्के झटके

नई दिल्ली: राजधानी दिल्ली समेत पूरे उत्तर भारत में आज सुबह करीब आठ बजे भूकंप के हल्के झटके महसूस किए गए। भूकंप का केंद्र तजाकिस्तान बताया जा रहा है। भूकंप से किसी प्रकार के जानमाल के नुकसान की खबर नहीं है। उत्तर प्रदेश के मेरठ तक भूकंप के झटके मसहूस किए गए। अमेरिका की भूकंप की तीव्रता मापने वाली एजेंसी यूएसजीएस के अनुसार भूंकप की तीव्रता रिक्टर स्केल पर 4.6 मापी गई।

बता दें कि कुछ दिन पहले भी जम्मू-कश्मीर समेत उत्तर भारत में भूकंप के झटके महसूस किए गए थे। सुबह करीब आठ बजे भूकंप के झटके महसूस किए गए। गौरतलब है कि दिल्ली सिस्मिक जोन 4 में आता हैं और हाल के वर्षों में राजधानी और उसके आसपास के इलाके में हल्के झटके आते रहे हैं। भूकंप का केंद्र तजाकिस्तान में करीब 12 किलोमीटर नीचे था। धरती के अंदर हुई इस हलचल को दिल्ली, हरियाणा, उत्तर प्रदेश के कई शहरों में महसूस किया गया। ट्विटर पर भी लोगों ने भूकंप के झटके महसूस किए जाने की सूचना देनी शुरू कर दी। कुछ ही मिनटों में यह टॉप ट्रेंड हो गया।

शाह, योगी के बाद अब पीएम मोदी भी लगाएंगे संगम में डुबकी

उल्लेखनीय है कि सिस्मिक जोन 5 को भूकंप के लिहाज से सबसे अधिक खतरनाक माना जाता है। साथ ही दिल्ली, पटना, श्रीनगर, कोहिमा, पुड्डुचेरी, गुवाहाटी, गैंगटॉक, शिमला, देहरादून, इंफाल और चंडीगढ़, अंबाला, अमृतसर, लुधियाना, रुड़की सिस्मिक जोन 4 और 5 में आते हैं। जम्मू-कश्मीर, हिमाचल प्रदेश, उत्तराखंड, गुजरात, उत्तर बिहार और अंडमान-निकोबार के कुछ इलाके जोन-5 में शामिल हैं।

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया The Lucknow Tribune के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें...
Loading...
-------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ----------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
E-Paper