देह व्यापार में धकेलने पर तीन महिलाओं समेत सात गिरफ्तार

नई दिल्ली: परिवार को आर्थिक तंगी से बाहर निकलाने के लिए नौकरी की तलाश कर रही एक 16 वर्षीय किशोरी को उसकी मां की सहेली ने देह व्यापार में धकेल दिया। बाहरी दिल्ली के सुल्तानपुरी में थाने में पीड़ित किशोरी की मां ने आरोपी महिला के खिलाफ शिकायत दर्ज कराई है। केस दर्ज कर छानबीन के बाद पुलिस ने किशोरी को देह व्यापार में जबरन धकेलने के आरोप में तीन महिलाओं सहित सात आरोपियों को गिरफ्तार किया है। पकड़े गए आरोपियों में दो युवकों की पहचान अभिषेक व आकाश के रूप में हुई है।

पुलिस सूत्रों के मुताबिक पीड़िता की मां ने अपने बयान में बताया कि घर की आर्थिक स्थिति ठीक न होने के कराण उसकी 16 वर्षीय बेटी काम करने की बात कह रही थी। उसके लिए उचित काम तलाशने के लिए उन्होंने अपनी एक सहेली कुसुम (बदला हुआ नाम) से इस सिलसिले में बात की। कुसुम ने किशोरी को काम दिलवाने का भरोसा दिलाया और अपनी एक अन्य सहेली के पास ले गई। उस महिला ने किशोरी को देह व्यापार में जबरन धकेल दिया, जहां तीन दिन तक किशोरी का यौन शोषण किया गया।

पीड़ित किशोरी की मां को पता चलने पर उसने अपनी सहेली के सामने विरोध दर्ज कराया, जिसपर उसकी सहेली उससे झगड़ने लगी। झगड़े की कॉल पर पहुंची पुलिस ने पहले मामले को दो महिलाओं के बीच सामान्य झगड़ा समझकर शांत कराने का प्रयास किया, लेकिन मामला संदिग्ध लगने पर बारीकी से जांच की और किशोरी व उसकी मां से पूछताछ कर पता लगाया कि पूरा मामला देह व्यापार से जुड़ा हुआ है। कार्रवाई कर पुलिस ने मामले में तीन महिलाओं समेत सात आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया। इनमें से दो आरोपियों ने पीड़ित किशोरी से दुष्कर्म किया था। केस दर्ज कर पुलिस मामले की गहन छानबीन कर रही है।

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया The Lucknow Tribune के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें...
Loading...
-------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ----------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
E-Paper