नगर​ विकास मंत्री ने पुराने लखनऊ का किया निरीक्षण, अकबरी गेट पर बंद पड़े फव्वारे को शुरु कराया

लखनऊ ब्यूरो। प्रदेश सरकार में नगर विकास मंत्री सुरेश खन्ना ने शनिवार को लखनऊ शहर के कई मोहल्लों का निरीक्षण किया। मंत्री ने अपने निरीक्षण के दौरान अकबरी गेट पर 10 वर्षो से बंद पड़े फव्वारे को शुरु कराया।

शनिवार सुबह आठ बजे से नगर विकास मंत्री सुरेश खन्ना ने महापौर संयुक्ता भाटिया और नगर निगम व जलसंस्थान के अधिकारियों संग स्वच्छता का निरीक्षण किया। जोन छह से निरीक्षण की शुरुआत करते हुए मंत्री सुरेश खन्ना ने झोमाई टोला एवं पुराना सरफराजगंज में साफ सफाई का निरीक्षण किया और सफाई क​र्मचारियों को समय का पालन करने का निर्देश दिया।

वहां से जोन तीन के फैजुल्लागंज थर्ड में खदरी मलीन बस्ती पहुंचें सुरेश खन्ना ने अधिकारियों को खरी खरी सुनाई। स्वच्छता व्यवस्था खराब देखकर वह भड़क गये और अधिकारियों से किसी भी स्थिति में स्वच्छता कार्य को अधूरा ना छोड़ने की हिदायत दी।
मंत्री सुरेश खन्ना जोन सात के शंकरपुरवा थर्ड के गजरहां मोहल्ले का रुख किया। वहां स्थानीय लोगों ने मंत्री को घेरकर बाबा साहेब अम्बेडकर की प्रतिमा पर छतरी की मांग की। जब मंत्री ने महापौर से इस पर चर्चा की।

महापौर संयुक्ता भाटिया ने नगर निगम की बैठक में इस बिन्दू को रखने और मांग को पूरा कराने का आश्वासन दिया। वहां से आगे बढ़ने पर बालागंज इलाके के लोगों की नलकूप की मांग को लेकर नगर विकास मंत्री ने जलसंस्थान के महाप्रबन्धक को निर्देशित किया। उन्होंने एक माह में नलकूप को लेकर योजना और रचना करने को कहा। निरीक्षण के उपरान्त नगर विकास मंत्री ने अधिकारियों को आये दिन निरीक्षण कर कार्यवाही कराने को निर्देशित कर आगे बढ़ गये।

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया The Lucknow Tribune के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें...
Loading...
-------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ----------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
E-Paper