नेहरू का नहीं, अपने पिता और दादा का गोत्र बताएं राहुल: वसुंधरा

जयपुर: राजस्थान विधानसभा चुनाव में इस बार विकास के वादों पर जाति की राजनीति हावी हो गई दिखाई देती है। एक ओर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की जाति पर सवाल उठाए जा रहे हैं, वहीं कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी के गोत्र को लेकर भी तंज कसे जा रहे हैं।

राजस्थान की मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे ने भी राहुल गांधी के गोत्र पर सवाल उठाए हैं। वसुंधरा ने ट्वीट किया कि मेरे मंदिर जाने का मजाक उड़ाने वाले राहुल गांधी अब खुद मंदिर जाने लगे हैं। राजे ने कहा वोटों के लालच में अब वे गोत्र भी बताने लगे हैं। राहुल गांधी ने अपना गोत्र नहीं बताया, जो गोत्र बताया है, वह तो नेहरूजी का गोत्र है। उन्हें तो अपने दादा और पिता का गोत्र बताना चाहिए।

उल्लेखनीय है कि राहुल ने सोमवार को पुष्कर में ब्रह्मा जी के मंदिर में दर्शन किए थे। यहां पुजारी ने जब राहुल से उनका गोत्र पूछा तो उन्होंने तुरंत इसका जवाब दिया। राहुल ने बताया कि वह कौल (कश्मीरी) ब्राह्मण हैं और दत्तात्रेय उनका गोत्र है। इसके बाद पुजारी ने मंदिर में पूजा संपन्न कराई। राहुल गांधी के मंदिर-मंदिर दर्शन के बाद से भाजपा लगातार हमलावर होते हुए राहुल से कभी उनके जनेऊधारी होने का प्रमाण मांगती रही, तो कभी गोत्र पूछने लगी।

इससे पहले मध्य प्रदेश के चुनावी दौरे के दौरान भाजपा प्रवक्ता संबित पात्रा ने प्रेस कॉन्फ्रेंस के दौरान राहुल गांधी पर निशाना साधते हुए पूछा था हम राहुल गांधी से पूछना चाहते हैं कि आप जनेऊधारी हैं? आप कैसे जनेऊधारी हैं क्या गोत्र है आपका?’

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया The Lucknow Tribune के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें...
Loading...
-------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ----------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
E-Paper