पंद्रह साल पुराने वाहनों पर अब देना होगा ग्रीन टैक्स

लखनऊ। परिवहन विभाग पंद्रह साल पुराने वाहनों के नवीनीकरण नहीं कराने पर अब सख्त हो गया है। इसलिए ऐसे वाहनों के नवीनीकरण कराने पर जल्द ही ग्रीन टैक्स देना होगा।

परिवहन आयुक्त पी.गुरु प्रसाद ने सोमवार को बताया कि बड़े पैमाने पर ट्रक, बस, टेंपो, ऑटो, कार एवं मोटर साइकिलें जिनका पंजीकरण 15 साल पहले कराया गया था, लेकिन इन वाहनों का नवीनीकरण नहीं कराया है तो ऐसे वाहनों पर अब ग्रीन टैक्स देना होगा।

उन्होंने बताया कि ऐसे ट्रक एवं बस के मालिकों ने लंबे समय से टैक्स को नहीं चुकाया है। इससे परिवहन विभाग के करोड़ों रुपये का राजस्व फंस गया है। अब ऐसे वाहनों की खोजबीन करके इन वाहनों के मालिकों को नोटिस भेज कर टैक्स की वसूली की जाएगी।

आयुक्त ने बताया कि इसके लिए जोनल डिप्टी कमिश्नर अरविंद कुमार पांडेय के नेतृत्व में तीन सदस्यीय कमेटी बनाई गई है। कमेटी सभी आरटीओ से तालमेल करके ऐसे वाहन एवं मालिक को सूचीबद्ध कर क​रेगी ताकि उनसे टैक्स वसूला जा सके।

उन्होंने बताया कि जो वाहन 15 साल पुराने हो गए हैं, उनके पंजीकरण का दोबारा नवीनीकरण करने पर वाहन के टैक्स पर 10 फीसदी ग्रीन टैक्स देने का प्रावधान है। जबकि कार के पंजीकरण का नवीनीकरण शुल्क 300 रुपये एवं बाइक का 15 रुपये हैं। यह नवीनीकरण सिर्फ पांच साल के लिए होता है।

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया The Lucknow Tribune के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें...
Loading...
-------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- --------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- --------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- --------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
E-Paper