पति के ‘वर्क फ्रॉम होम’ से तंग आई पत्नी, पीएम मोदी से की दिलस्चप अपील

नई दिल्ली: कोरोना वायरस ने देश की अर्थव्यवस्था की कमर तोड़ कर रख दी है। बड़े बड़े कारोबारी सर पीट रहे हैं। इसी बीच घर पर बैठी महिला ने भी सिर पर हाथ रख के अपनी समस्या सोशल मीडिया पर शेयर की है। कोरोनावायरस के बढ़ते संकट को देखते हुए लोगों को घर में बैठे कर ओफिस का काम करने को कहा गया है। घर में कैद होने के बावजूद लोग सोशल मीडिया के जरिए कुछ न कुछ दिलचस्प कारनामा करते हुए नजर आते हैं।

हाल ही में टिकटॉक पर एक वीडियो सोशल मीडिया पर काफी वायरल हो रहा है। इस वीडियो में एक महिला पीएम मोदी से शहर की तरह घर के किचन को भी लॉकडाउन करने की अपील कर रही है। इस वीडियो में महिला अपने पति के तरफ दिखाते हुए कह रही है कि ‘जैसे आपने पूरे हिंदुस्तान को लॉकडाउन करा दिया है वैसे हम औरतों की रसोई को भी लॉकडाउन करा दीजिए नहीं तो हर आधे घंटे पर चाय, चिप्स, पकौड़े, रोटी, चावल हर चीज कि डिमांड हो रही है।

हालांकि इस वीडियो को उन औरतों की तरफ से ज्यादा शेयर किया जा रहा है, जिनके पति ‘वर्क फ्रॉम होम’ कर रहे हैं। गौरतलब है कि कोरोना वायरस covid-19 के मामले दुनिया भर में दिन पर दिन बढ़ते ही जा रहे हैं। इसके प्रकोप को बढ़ने से रोकने के लिए सरकार ने देश में लॉकडाउन का फैसला लिया है।

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया The Lucknow Tribune के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें...
Loading...
-------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ----------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
E-Paper