‘पद्मावत’ के बाद अब ‘लवरात्रि’ की बारी

मुंबई: यह तो देश और दुनिया देख चुकी है कि संजय लीला भंसाली की फिल्म ‘पद्मावत’ के साथ विरोध करने वालों ने क्या किया, अब उनके निशाने पर लवरात्रि फिल्म आ चुकी है। दरअसल बताया जा रहा है कि आयुष शर्मा की डेब्यू फिल्म ‘लवरात्रि’ पर विश्व हिंदू परिषद ने आपत्ति जताई है।

अब यह भी यहां बतलाते चलें कि आयुष कोई और नहीं बल्कि बॉलीवुड के दबंग हीरो सलमान ख़ान के बहनोई हैं। वीएचपी ने इस बात पर नाराज़गी जाहिर की है कि फिल्म का नाम हिंदू त्यौहार ‘नवरात्रि’ से मिलता-जुलता है, जो धार्मिक भावनाएं भड़का सकता है। इसलिए इस फिल्म की स्क्रीनिंग नहीं होने दी जाएगी। गौरतलब है कि सलमान के बैनर तले ‘लवरात्रि’ का निर्माण किया जा रहा है। इस संबंध में विहिप के कार्यकारी अध्यक्ष आलोक कुमार का कहना है कि ‘हम देश के किसी सिनेमाघर में फिल्म की स्क्रीनिंग नहीं होने देंगे।

ऐसा इसलिए करेंगे क्योंकि हम नहीं चाहते कि हिंदुओं की भावनाएं आहत हों।’ फिल्म के बारे में बतलाते चलें कि गुजरात की पृष्ठभूमि पर आधारित यह फिल्म रोमांटिक ड्रामा से परिपूर्ण है। इसमें एक जोड़े की लव स्टोरी दिखाई गई है, जिनका प्यार नवरात्रि के दौरान परवान चढ़ता है। फिल्म में लीड रोल आयुष शर्मा और वरीना हुसैन कर रही हैं। अब देखना यह है कि विहिप का विरोध क्या गुल खिलाता है, क्योंकि यह प्रचारतंत्र की तरह भी तो काम करता है, फिर इससे क्या हासिल होता है यह देखने वाली बात होगी।

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया The Lucknow Tribune के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें...
Loading...
-------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ----------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
E-Paper