परिवहन निगम के बोर्ड बैठक में कई प्रस्तावों को मिली मंजूरी

लखनऊ ब्यूरो। उत्तर प्रदेश राज्य सड़क परिवहन निगम (रोडवेज) के बोर्ड बैठक में मंगलवार को लखनऊ के पॉलिटेक्निक चौराहे पर यात्रियों के लिए शेड बनाने सहित कई प्रस्तावों को मंजूरी दी गई।

रोडवेज के प्रवक्ता अनवर अंजार ने बताया कि परिवहन निगम बोर्ड के अध्यक्ष संजीव सरन की अध्यक्षता में निदेशक मण्डल की 219 वीं बैठक में लखनऊ के पॉलिटेक्निक चौराहे पर यात्रियों के लिए शेड बनाने सहित कई प्रस्तावों को मंजूरी दी गई। इस बैठक में निगम उच्च प्रबन्धन के अतिरिक्त वित्त, परिवहन, नियोजन, सार्वजनिक उद्यम ब्यूरों एवं परिवहन आयुक्त संगठन के प्रतिनिधियों ने भाग लिया।

बैठक में रक्षाबन्धन पर्व पर परिवहन निगम की बसों में महिला यात्रियों को नि:शुल्क यात्रा सुविधा का विवरण निदेशक मण्डल के सामने प्रस्तुत किया गया। निदेशक मंडल ने परिवहन निगम के इस कार्य की सराहना करते हुए अनुमोदन प्रदान कर दिया है।

उन्होंने बताया कि पॉलिटेक्निक चौराहे पर यात्रियों की सुविधा के लिए शेड स्थापित होने से गोरखपुर, फैजाबाद, बहराईच, गोण्डा, बाराबंकी आदि मार्ग पर यात्रा करने वाले यात्रियों की मौसम की मार से राहत मिलेगी और एक निर्र्धारित स्थल से बसें मिल सकेंगी। साथ ही यात्रियों की सुविधा के लिए डिपो कार्यशालाओं एवं बस स्टेशनों की रंगाई-पुताई कराये जाने के निर्देश भी दिये गये हैं। इसके अतिरिक्त छोटी-मोटी मरम्मत एवं रख-रखाव के लिए भी सहायक क्षेत्रीय प्रबन्धकों को 10 से 15 हजार रुपये तक के व्यय की वित्तीय स्वीकृति प्रदान की गई है।

प्रवक्ता ने बताया कि धनराशि का निर्धारण बस अड्डे की श्रेणी के अनुसार की जाएगी। कानपुर स्थित ड्राइवर ट्रेनिंग सेन्टर में प्रशिक्षणार्थी चालकों के ठहरने के लिए प्रयोग की जा रही डारमेट्री की मरम्मत का प्रस्ताव भी अनुमोदित कर दिया गया है। उन्होंने बताया कि निगम कर्मियों को सातवें वेतनमान के अनुरूप एक जुलाई 2016 एवं एक जनवरी 2017 से महंगाई भत्ते से सम्बन्धित प्रस्ताव को भी निदेशक मण्डल ने मंजूरी दे दी है।

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया The Lucknow Tribune के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें...
Loading...
-------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
E-Paper