पाकिस्तान में घुसकर आतंकी कैंप तबाह करने वाले पांच जांबाज पायलटों को मिलेगा वायुसेना मेडल

नई दिल्ली: स्वतंत्रता दिवस के मौके पर पाकिस्तान के घर में घुसकर आतंकियों के कैंप तबाह करने वाले वायुसेना के पांच जांबाज पायलटों को वायु सेना पदक (वीरता) से सम्मानित किया जाएगा। ये जांबाज हैं विंग कमांडर अमित रंजन, स्क्वॉड्रन लीडर राहुल बसोया, पंकज भुजडे, बीकेएन रेड्डी और शशांक सिंह जिन्होंने अपनी जान पर खेलकर देश के दुश्मनों को सबक सिखाया था। ये सभी अधिकारी मिराज 2000 लड़ाकू विमान के पायलट हैं। इन्होंने ही पाकिस्तान के बालाकोट शहर में जैश-ए-मोहम्मद आतंकवादी शिविर पर बमबारी की थी।

जम्मू-कश्मीर के पुलवामा में सीआरपीएफ के काफिले पर हुए आतंकी हमले के बाद भारतीय वायुसेना ने पाकिस्तान के बालाकोट में घुसकर एयर स्ट्राइक की थी। भारतीय वायुसेना ने बालाकोट में आतंकी संगठन जैश-ए-मोहम्मद के ठिकानों को निशाना बनाया था। पुलवामा आतंकी हमले में सीआरपीएफ के 40 से ज्यादा जवान शहीद हो गए थे।

इस आतंकी हमले के बाद ही भारतीय वायुसेना ने पाकिस्तान के बालाकोट में एयर स्ट्राइक का फैसला किया था। भारतीय वायुसेना की इस कार्रवाई में 250 से ज्यादा आतंकियों के मारे जाने की बात कही जा रही है। इन घटनाओं के चलते भारत और पाकिस्तान के बीच तनाव भी काफी देखने को मिला था।

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया The Lucknow Tribune के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें...
Loading...
-------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- -----------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
E-Paper