पाकिस्तान में बेघर हुआ एक सिख पुलिस अधिकारी

Published: 11/07/2018 2:22 PM

लाहौर: पाकिस्तान के पहले सिख पुलिस अधिकारी गुलाब सिंह को यहां उनके घर से जबरन बाहर निकाल दिया गया है और उनके साथ मारपीट की गई। यह जानकारी बुधवार को मीडिया रिपोर्ट से मिली। सिंह ने दावा किया है कि पाकिस्तान सरकार उन्हें और अल्पसंख्यक सिखों को देश से जबरन निकालना चाहती है। उन्होंने कहा कि 1947 में भी उन्होंने पाकिस्तान को नहीं छोड़ा था, मगर अब उन्हें छोड़ने पर मजबूर किया जा रहा है।

उन्होंने कहा कि 1947 से उनका परिवार पाकिस्तान में रह रहा है। उस समय दंगों के बाद उन्होंने पाकिस्तान नहीं छोड़ा, लेकिन अब उन्हें पाकिस्तान छोड़ने पर मजबूर किया जा रहा है। सिंह ने कहा, “ मेरे घर को पूरी तरह से सील कर दिया गया है। यहां तक कि मेरे चप्पल-जूते तक अंदर रह गए हैं। मेरे सारे कपड़े, सामान को अंदर बंद कर दिया गया है। इतना ही नहीं, मेरे सिर पर रखने वाला पटका भी अंदर बंद कर दिया गया है, अभी मैंने एक पुराने कपड़े को फाड़कर लपेटा है। मुझे प्रताड़ित किया गया, पीटा गया, मेरे विश्वास को अपमानित किया गया।”

उन्होंने घटना का जिक्र करते हुए कहा कि उन्हें जबरन बाहर निकालने का काम इवैक्यू ट्रस्ट प्रोपर्टी बोर्ड द्वारा किया गया। सिंह ने मीडिया से भी गुहार लगाई कि उनके साथ जो नाइंसाफी हो रही है उसे दिखाए, ताकि दुनिया देख सके। बता दें कि ईटीपीबी पाकिस्तान सिख गुरुद्वारा प्रबंधक समिति (पीएसजीपीसी) का पैरेंट बॉडी है।

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया The Lucknow Tribune के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें...
-----------------------------------------------------------------------------------
loading...
E-Paper