पान खाते ही जोर-जोर से चिल्लाने लगी ये मशहूर एक्ट्रेस, मुंह खोला तो निकला धुंआ और कुछ ही देर में…

टीवी सीरियल की मशूहर एक्ट्रेस निया शर्मा का एक वीडियो सोशल मीडिया पर खूब वायरल हो रहा है. जिसमें निया की हालत देखने लायक है. पान तो आपने भी खाये होंगे लेकिन पान खाने के बाद ऐसी हालत हो सकती है वो आप निया की इस वीडियो से अंदाजा लगा सकते हैं. निया पान खाने के लिए बड़े ही चॉव से पान की दुकान के पास चली तो गई और जैसे ही उन्होंने पान को मुंह में रखा वैसे ही वो जोर-जोर से चिल्लाने लगी और कुछ ही देर में उनके मुंह से धुंआ निकलते भी दिखाई दिया.

दरअसल निया ने फायर पान यानि जलता हुआ पान का सेवन किया था. निया ने इस स्पेशल पान को खाने के लिए अपने एक दोस्त से वीडियो भी बनवाई. वीडियो में दिखाया जा रहा है निया शर्मा पहले तो फायर पान को खाने के लिए डरती हैं और जैसे ही दुकानदार उनके मुंह में पान रखता है वैसे वो पीछे हटलने लगती हैं, लेकिन खतरों की खिलाड़ी ने जलते हुए पान को मुंह में तो रख लिया. बाद में वो चिल्लाने लगी जिसे देखकर लोगों का मानना है कि वो एक्टिंग कर रही हैं क्योंकि फायर पान खाने के बाद कोई मुहं नहीं जलता है. निया शर्मा तो ऐसे चीख रही थीं जैसे उनका मुंह जल गया है

 

आजकल कई शहरों में फायर पान का क्रेज बढ़ता जा रहा है, लोग इस स्पेशल पान के खाने के शौकीन बन रहे हैं. वो जानना चाहते हैं कि इस पान को खाने के बाद क्या वाकई में मुंह नहीं जलता है. जी हां…तो आपको बता दें, आग की सुलगती लपटों से बना ये पान इन दिनों इंडिया में काफी पॉपुलर हो रहा है. इसे हर उम्र के लोग खा सकते हैं. इसे बनाने का तरीका भी आम पान के तरीके की तरह ही होता है लेकिन इसे खास बनाती है इस पर लगने  वाली आग.

खाने के बाद मुंह वैसे ही गर्म लगता है जैसे गर्म खाना या चाय पीने पर लगता है. बाकी इसका स्वाद वहीं होता है. इस पान के फायदे भी आम पान के खाने से ज्यादा हैं. वैसे तो इस पान को कई औषधी के रूम में खाते है.

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया The Lucknow Tribune के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें...
Loading...
-------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ----------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
E-Paper