पीलीभीत में रेप नहीं कर पाया तो महिला को जिंदा जलाया

पीलीभीत: उत्तर प्रदेश में दुष्कर्म के प्रयास में असफल होने के बाद एक महिला को आग के हवाले करने से जुड़े मामले में एक 25 वर्षीय व्यक्ति के खिलाफ मामला दर्ज किया गया है। पुलिस ने रविवार को हरकिशनपुर गांव के एक निवासी के खिलाफ अपने बड़े भाई की पत्नी की हत्या करने के प्रयास के आरोप में मामला दर्ज किया है। यह घटना 11 जून की है, लेकिन चूंकि महिला गंभीर रूप से घायल थी, इस वजह से वह अपना बयान दर्ज नहीं करा पाई थी, इसलिए अपराध के दो महीने बाद मामला दर्ज किया गया।

पुलिस के अनुसार, महिला ने बयान दिया कि दुष्कर्म का प्रयास करने के बाद असफल होने पर उसके देवर ने उस पर केरोसिन छिड़क कर आग लगा दी। 80 प्रतिशत से अधिक जख्मी महिला का बरेली के एक अस्पताल में इलाज चल रहा है। पीड़िता के भाई ने बताया, “मेरी बहन की हालत में सुधार हो रहा है। जलने के बाद पहली बार उसने घटना के बारे में हमें बताया।”

हफीजगंज शहर निवासी पीड़िता के भाई ने नेउरिया पुलिस स्टेशन में दी गई अपनी लिखित शिकायत में कहा, “मई 2016 में उसकी शादी के बाद से ही मेरी बहन अपने देवर के इरादों से आशंकित थी और जब उसने अपने पति को इस बारे में बताया तो उसने उसे ही डांटकर चुप करा दिया।

दुष्कर्म में असफल होने पर उसके देवर ने अपने परिवार के सदस्यों के सहयोग से मेरी बहन पर मिट्टी का तेल डालकर आग लगा दी।” नेउरिया पुलिस स्टेशन के एसएचओ बिरजा राम ने कहा कि आरोपी पर भारतीय दंड संहिता (आईपीसी) की धारा 307 (हत्या का प्रयास) के तहत मामला दर्ज किया गया है और जल्द ही उसे गिरफ्तार कर लिया जाएगा।

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया The Lucknow Tribune के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें...
Loading...
-------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- -----------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
E-Paper