पी. नरहरि ने संभाला के माखनलाल चतुर्वेदी विवि के कुलपति का अतिरिक्त प्रभार

भोपाल। माखनलाल पत्रकारिता विश्वविधालय के कुलपति पद से जगदीश उपासने के इस्तीफा देने के बाद जनसंपर्क आयुक्त पी नरहरि को कार्यवाहक कुलपति बनाया गया है। शासन द्वारा उन्हें अतिरिक्त प्रभार सौंपा गया है। जब तक कुलपति की स्थाई नियुक्ति नहीं होती वह यूनिवर्सिटी के कार्यवाहक कुलपति रहेंगे। राज्य सरकार ने मंगलवार को इस संबंध में आदेश जारी कर दिया हैं। पी नरहरि 2001 बैच के आईएएस अफसर हैं। वे वर्तमान में जनसंपर्क सचिव और आयुक्त माध्यम है। पी नरहरि तेलंगाना के करीम नगर ज़िले के बसंतनगर गांव के रहने वाले हैं| जबलपुर-ग्वालियर और इंदौर के कलेक्टर रह चुके हैं।

जानकारी के मुताबिक मध्यप्रदेश शासन द्वारा सचिव जनसंपर्क विभाग पी. नरहरि को अपने वर्तमान कर्तव्यों के साथ- साथ अस्थाई रूप से माखनलाल चतुर्वेदी राष्ट्रीय पत्रकारिता एवं संचार विश्वविद्यालय भोपाल के कार्यवाहक कुलपति का अतिरिक्त प्रभार सौंपा गया है। इससे पहले विवि के कुलपति जगदीश उपासने थे। लेकिन कांग्रेस के सरकार में आने के बाद उन्होंंने इस्तीफा दे दिया। उनके इस्तीफा देने के पीछे राजनीतिक दबाव की बात कही जा रही थी।

दरअसल, पिछले 15 सालों से विवि में संघ विचारधारा के कुलपति को राज्य सरकार द्वारा नियुक्त किया गया था। उपासने से पहले बीके कुठियाला कुलपति थे। वह दस साल तक विवि के कुलपति रहे। उनके कार्यकाल बेहद विवादित रहा। हाईकोर्ट में उनके कार्यकाल के दौरान कई प्रोफेसरोंं की नियुक्तियों पर विवाद रहा और मामला अभी भी कोर्ट में चल रहा है। बीजेपी के कार्यकाल में विवि में संघ विचारधारा को बढ़ावा देने के भी आरोप लगते रहे हैं। संघ समर्थित लेखकों को सिलेबस में शामिल करने पर कई बार छात्रों समेत कांग्रेसी नेताओं ने आपत्ति दर्ज कराई थी। अब कांग्रेस सरकार के सत्ता में आने के बाद विवि में बड़ा बदलाव किए जा सकते हैं।

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया The Lucknow Tribune के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें...
Loading...
-------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
E-Paper