पुलवामा हमला: अमेरिका ने कहा भारत को सेल्फ डिफेंस का पूरा अधिकार

दिल्ली ब्यूरो: पुलवामा हमले के बाद अमेरिका का कडा रिएक्शन सामने आया है। अमेरिका ने इस हमले की निंदा की है और कहा है कि वो पूरी तरह से भारत के साथ खड़ा है। बताया जा रहा है कि अमेरिकी नेशनल सेक्यॉरिटी एडवाइजर ने भारत के एनएसए अजीत डोभाल से बातचीत में हमले के बारे में बात की है। अमेरिका के एनएसए जॉन बॉल्टन ने कहा कि हमले का जवाब देने के लिए भारत के साथ खड़े हैं। जानकारी के मुताबिक बॉल्टन ने कहा है कि भारत को सेल्फ डिफेंस का पूरा अधिकार है।

उन्होंने इस हमले को लेकर अमेरिका की तरफ से संवेदना प्रकट की और कहा कि अमेरिका इस घड़ी में पूरी तरह से भारत के साथ है। अमेरिकी एनएसए की तरफ से जारी एक बयान में कहा गया कि डोभाल से दो बार उनकी बात हुई है। उन्होंने पाकिस्तान को भी कड़ी नसीहत दी है। अमेरिका ने पाकिस्तान को दू टूक में कहा है कि वो आतंकियों को पालना बंद करे। पाकिस्तान पर हमेशा आतंकियों को पनाह देने के आरोप लगते आए हैं। दुनिया के कई बड़े आतंकी पाकिस्तान से ही ऑपरेट करते हैं। अमेरिका ने कहा है कि इस बारे में पाकिस्तान से बातचीत जारी है।

बता दें कि अमेरिका के अलावा कई देश भी भारत पर हुए इस हमले की निंदा कर चुके हैं और आतंकवाद के खिलाफ इस लड़ाई में पूरा साथ देने की बात कर चुके हैं। पीएम मोदी ने कल सभी देशों का धन्यवाद दिया था और कहा था कि दुनिया की बड़ी ताकतें आतंकवाद से लड़ने के लिए साथ आएं। अमेरिका के विदेश मंत्री ने भी पाकिस्तान को तलाड़ लगाई है। विदेश मंत्री माइक पोम्पियो ने ट्विटर पर लिखा, अमेरिका भारत के सुरक्षाबलों पर हुए इस दिल दहला देने वाले हमले की निंदा करता है। शहीद जवानों और उनके परिवार वालों के लिए मेरी संवेदना है। हम आतंकवाद पर कार्रवाई के लिए भारत के साथ खड़े हैं।

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया The Lucknow Tribune के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें...
Loading...
-------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
E-Paper