पेट्रोल-डीजल की कीमतें बढ़ाने के लिए कांग्रेस भी जिम्मेदार: मायावती

लखनऊ: बसपा की प्रमुख व पूर्व मुख्यमंत्री मायावती ने पेट्रोलियप पदार्थो के मूल्य में वृद्धि के लिए भाजपा के साथ कांग्रेस पर भी हमला बोला। बसपा प्रमुख ने कहा कि महंगाई के लिए कांग्रेस भी बराबर की जिम्मेदार है। इस मुद्दे को लेकर जनता आगामी लोकसभा चुनाव में भारतीय जनता पार्टी को सबक सिखाने के लिए तैयार है।

बसपा प्रमुख मायावती की ओर से जारी बयान में कहा गया कि पेट्रोल व डीजल की कीमतों में बढ़ोत्तरी के लिए कांग्रेस और भाजपा दोनों बराबर की जिम्मेदार हैं। कांग्रेस ने अपने शासनकाल में पेट्रोल को सरकारी नियत्रंण से मुक्त कर गरीब विरोधी नीति की शुरुआत की थी। भारतीय जनता पार्टी ने इस कदम को आगे बढ़ाते हुए डीजल को भी सरकारी नियंतण्र से मुक्त कर दिया जिसका खामियाजा आज देश की गरीब जनता तथा किसानों को उठाना पड़ रहा है।

मायावती को जीएसटी और नोटबंदी का दर्द होना स्वाभाविक: पांडेय

भाजपा सरकार की जनविरोधी नीति का परिणाम है कि देश में डीजल, पेट्रोल व रसोई गैस जैसी जरूरी वस्तुओं की कीमतें आसमान छू रही है, जिससे हर वस्तु की कीमत लगातार बढती जा रही है। साथ ही इस महंगाई से जनता की कमर टूट रही है। मायावती ने कहा कि केन्द्र सरकार जनता की परेशानियों से थोड़ा भी चिन्तित अथवा विचलित नजर नहीं आती है।

भाजपा सरकार इस चुनावी साल में अपने उन बड़े-बड़े पूंजीपतियों और धन्नासेठों को कतई भी नाराज करना नहीं चाहती है जिनके धनबल पर वह केन्द्र की सत्ता में आयी है और फिर उन्हीं के बूते दोबारा सत्ता में आने का सपना देख रही है। उन्होंने कहा कि भाजपा का यह सपना पूरा नहीं होगा।

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया The Lucknow Tribune के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें...
Loading...
-------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
E-Paper