पेट को कम करने के लिए रोजाना सोने से पहले करें ये काम !

हेल्थ डेस्क. आजकल ज्यादातर लोगों को हर्बल टी पीने का शौक होता है. अगर आप भी हर्बल टी पीने की शौकीन है तो रोजाना पुदीने और नींबू की चाय पियें. पुदीने और नींबू की चाय पीने से न केवल आप तरोताजा रहेंगे बल्कि आपकी बॉडी भी डिटॉक्स हो जाएगी. पुदीने को संजीवनी बूटी के नाम से जाना जाता है.

हर्बल टी

स्वाद सौंदर्य और सुगंध का ऐसा अनोखा संगम बहुत कम पौधों में मिलता है. पुदीने के पौधे की आयु लंबी होती है. इसमें भरपूर मात्रा में विटामिन ए मौजूद होता है जो इसके स्वाद और खुशबू को बढ़ाता है. नींबू में भरपूर मात्रा में विटामिन सी मौजूद होता है.

इसके अलावा इसमें थियामिन, राइबोफ्लेविन, विटामिन बी, फोलेट और विटामिन E मौजूद होते हैं. पुदीने और नींबू की चाय पीने से आपका वजन आसानी से कम हो जाता है और आपकी त्वचा भी स्वस्थ रहती है. आज हम आपको पुदीने और नींबू की चाय पीने के कुछ फायदों के बारे में बताने जा रहे हैं.

1- नींबू और पुदीना दोनों ही सेहत के लिए बहुत फायदेमंद होते हैं. रोजाना नींबू और पुदीने की चाय पीने से किडनी स्टोन की समस्या दूर हो जाती है. नींबू में साइट्रिक एसिड की मात्रा पाई जाती है जो गॉल्स्टोन कैल्शियम के जमाव और किडनी स्टोन को पूरी तरह से कम कर देते हैं. पुदीने में मौजूद मेंथॉल भी पेट के लिए बहुत फायदेमंद होता है.

2- पुदीने और नींबू की चाय पीने से शरीर को नमी मिलती है. अगर आपको पीरियड्स के दौरान पेट में दर्द की समस्या रहती है तो नींबू और पुदीने की चाय पिए. यह पीरियड्स के समय होने वाली ब्लाटिंग को दूर करने के साथ-साथ शरीर में मौजूद विषाक्त पदार्थों को बाहर निकालने में मदद करती है.

3- अगर आपको जी मिचलाने या चक्कर आने की समस्या है तो एक कप नींबू और पुदीने की चाय पिए. इसकी खुशबू आपको तरोताजा रखने का काम करेगी और पेट से जुड़ी परेशानियां जैसे- पेट दर्द और दस्त की समस्या से आराम मिलेगा.

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया The Lucknow Tribune के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें...
Loading...
-------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ----------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
E-Paper