प्रापर्टी डीलर को किया अगवा बाराबंकी में धरे गये आरोपित

लखनऊ: लखनऊ में एक प्रापर्टी डीलर को अगवा कर ले जा रहे सैन्यकर्मी व उसके साथियों को बाराबंकी के लोनीकटरा में पुलिस ने धर लिया। अपहृत की चींख-पुकार सुनकर राहगीर ने कंट्रोल रूम पर सूचना दी, जिसके बाद पुलिस ने घेराबंदी की थी। पड़ताल में सामने आया कि प्रापर्टी डीलर ने रुपये लेने के बाद भी प्लॉट नहीं दिया था। रुपये न वापस करने पर सैन्यकर्मी साथियों संग उसे अगवा कर गोण्डा ले जा रहा था।

बहराइच के हुजूरपुर रायगढ़ स्थित बेलहा गांव निवासी आशीष कुमार सिंह प्रापर्टी का काम करते हैं। उनका गोमतीनगर स्थित हुसड़िया चौराहे के पास आफिस है। वर्ष 2014 में गोण्डा निवासी सैन्यकर्मी ज्ञान सिंह यादव ने आशीष को मीनाक्षी ग्रुप में प्लॉट दिलाने के लिए 6.20 लाख की चेक दी थी। इसके बाद भी सैन्यकर्मी ज्ञान सिंह को प्लॉट नहीं मिला था। छुट्टी पर आए सैन्यकर्मी ज्ञान सिंह रविवार को रिश्तेदारों वीरेन्द्र, राकेश व जगदेव के साथ कार से हुसड़िया चौराहे पर पहुंचा।

मुलाकात के दौरान आशीष न दूसरा प्लॉट गोसाईगंज में देने की बात कहते हुए दिखाने के लिए भी कहा। ज्ञान सिंह ने आशीष से अपनी रकम वापस मांगी। आशीष रुपये देने में आनाकानी करने लगा तो गुस्से में ज्ञान सिंह ने साथियों संग मिलकर उसे जबरन कार में बैठाया और गोण्डा के लिए निकल गया। लखनऊ-सुल्तानपुर हाइवे पर भिलवल कस्बे के पास आशीष ने कार से मुंह निकालकर मदद के लिए चिल्लाना शुरू कर दिया।

चश्मदीदों ने लखनऊ की ओर से आ रही कार में युवक को अगवा देख कंट्रोल रूम पर सूचना दी। अपहरण की सूचना पर बाराबंकी की लोनीकटरा पुलिस ने आनन-फानन में घेराबंदी शुरू की। घेराबंदी के दौरान पुलिस ने हाइवे पर कार को रूकवाकर अपहृत आशीष को बरामद कर लिया। पुलिस आशीष व अगवा कर ले जा रहे ज्ञान सिंह व अन्य को लोनीकटरा थाने लेकर पहुंची। इंस्पेक्टर लोनीकटरा बीपी यादव ने बताया कि आशीष की तहरीर पर मुकदमा दर्ज कर जांच की जा रही है।

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया The Lucknow Tribune के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें...
Loading...
------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
E-Paper