फिर सामने आया पुलिसकर्मी का अमानवीय चेहरा, शव को मारी लात

भोपाल: सुल्तानगढ़ के वॉटरफाल में 15 अगस्त को हुए हादसे के बाद ग्वालियर और शिवपुरी के जिला और पुलिस प्रशासन ने संवेदनाएं दिखाई और स्थानीय लोगों ने जी जान लगाकर पहले तो 45 लोगों को बचाने में मदद की फिर शवों को ढूंढने में जुटे रहे। इस दोरान लगातार प्रयास के बाद रेस्क्यू टीम ने सभी 9 युवकों के शवों को खोज निकाला। लेकिन इसी बीच एक पुलिसकर्मी का अमानवीय चेहरा भी सामने आया।

जानकारी के अनुसार रेस्क्यू टीम लगातार शवों को खोजने में जुटी थी, और उनकी मदद के लिए और कानून व्यवस्था बनाये रखने के लिए ग्वालियर के मोहना थाने का पुलिस फोर्स भी लगा था। इसी बीच एक युवक का शव स्ट्रेचर से पानी में से निकाला गया। बाद मे मदद करने वाला युवक उस शव को स्ट्रेचर से अलग करने का प्रयास करने लगा लेकिन जब उस युवक से शव स्ट्रेचर से नहीं निकला तो वहां मौजूद मोहना थाने का आरक्षक रामवरन रावत आगे आया और उसने लात मारकर स्ट्रेचर को पलट दिया जिससे शव नीचे गिर गया।

मौके पर मौजूद कुछ युवकों ने इसका वीडियो बना लिया और थोड़ी ही देर में वीडियो सोशल मीडीया पर वायरल हो गया, वायरल वीडियो की बात जैसे ही पुलिस अधीक्षक नवनीत भसीन तक पहुंची उन्होंने आरक्षक रामवरन को तत्काल लाइन अटैच कर दिया। हादसे मे मिनी जानकारी के अनुसार शनिवार सुबह तक पानी से 9 लोगों के शव बरामद किए जा चुके हैं। कई और के लापता होने की संभावना है। घटना स्थल से काफी दूर तक नदी में शवों की तलाश की गई है। जिन युवकों के शव मिले है उनकी पहचान निशि कुशवाह, फैज खान, सोनू चौहान, अभिषेक कुशवाह, लोकेन्द्र कुशवाह, भूपेन्द्र सिंह, विशाल चौहान और रवि कुशवाह और सूरज के रूप में हुई है।

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया The Lucknow Tribune के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें...
Loading...
-------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ----------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
E-Paper