फेसबुक पर हुए ‘इश्क’ के चक्कर में 55 साल के किसान ने लुटा दिए 30 लाख रुपये

हापुड़: अकबर इलाहाबादी का शेर है ‘इश्क नाजुक-मिजाज है बेहद, अक्ल का बोझ उठा नहीं सकता’। जटपुरा पिलखुआ के किसान के साथ भी कुछ ऐसा ही हुआ। 55 साल की उम्र में फेसबुक पर एक युवती से इश्क में फंस गए। शुरुआती बातचीत जल्द ही अश्लील चैट और विडियो तक पहुंच गई। फिर विडियो कॉल का दौर शुरू हुआ। महज 13 दिन मोहब्बत की बातें चलीं।

इश्क में किसान ने कुछ और सोचा नहीं। 30 लाख रुपये 3 बैंक खातों में जमा कर दिए। रुपये मिलते ही युवती फेसबुक से लापता हो गई। ठगी के इस केस की अब हापुड़ पुलिस साइबर सेल के साथ मिलकर जांच कर रही है।

24 मई को आई थी फ्रेंड रिक्वेस्ट
थाना इंचार्ज महावीर सिंह ने बताया कि जटपुरा पिलखुवा मोहल्ले में रहने वाले किसान के साथ ठगी हुई है। 24 मई को उनके फेसबुक अकाउंट पर एक युवती की फ्रेंड रिक्वेस्ट आई थी। किसान ने 25 मई को एक्सेप्ट किया। युवती ने मोहब्बत के जाल में फंसा कर किसान से 30 लाख रुपये की ठगी कर ली।

11 दिनों में जमा किए पैसे
इश्क में पड़ा किसान 11 दिनों तक ठग के बैंक खातों में रुपये जमा करता रहा। कभी इनकम टैक्स डिपार्टमेंट के नाम पर तो कभी एक्साइज डिपार्टमेंट के लिए। 15 लाख रुपये उसने अपने जमा कर दिए। फिर रिश्तेदारों और दोस्तों से 15 लाख रुपये कर्ज लिए। गिफ्ट की लालच में उसे भी जमा कर दिए। 11 दिनों में 11 बार में उसने 30 लाख ठगों के खाते में जमा कर दिए।

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया The Lucknow Tribune के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें...
Loading...
-------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- --------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- --------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- --------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
E-Paper