बच्ची से दुष्कर्म और हत्या के आरोपी को सजा -ए-मौत

रांची: साढ़े तीन साल की बच्ची के साथ दुष्कर्म के बाद उसकी हत्या के आरोपी को गुमला के एडीजे-वन एल दुबे की अदालत ने जघन्य और क्रूरतम कृत्य मानते हुए फांसी की सजा सुनाई है. गुमला जिला अंतर्गत पुसो थाना क्षेत्र में 23 सितम्बर 2018 को यह घटना घटित हुई थी जिसमे आरोपी बंधना उरांव पर आरोप था कि वह साढ़े तीन साल की बच्ची को बहला-फुसला कर अपने घर ले जाकर उसके साथ दुष्कर्म किया और बच्ची के चिल्लाने पर उसकी गला दबाकर हत्या कर दी. घटना के बाद पीड़ित पक्ष की एफआईआर पर पुसो थाना में आरोपी के खिलाफ पोस्को एक्ट की धारा भी लगाई गई थी.

सजा सुनाए जाने के बाद आरोपी बंधना उरांव की ओर से पैरवी कर रहे अधिवक्ता राघव सिंह ने कहा कि कोर्ट के इस फैसले से वे संतुष्ट नहीं हैं, वह हाईकोर्ट में अपील करेंगे, वहीं गुमला के हर वर्ग के लोगों ने कोर्ट के इस फैसले की सराहना की है. समाज के लोगों का कहना है कि ऐसे मामलों में उच्च न्यायालयों को भी जल्द निर्णय देकर ऐसे अपराधियों को उनके परिणाम तक पहुंचाना चाहिेए.

भाजपा अल्पसंख्यक मोर्चा के नेता मो.आफताब आलम लाड़ले व भाजपा महिला मोर्चा जिलाध्यक्ष शैल मिश्रा ने इस फैसले की सराहना करते हुए इसे पोक्सो कानून जैसे सख्त फैसलों का परिणाम बताया.इस फैसले पर एपीपी चंदा कुमारी ने खुशी व्यक्त करते हुए कहा की कोर्ट को जिस तरह उन लोगों ने पुलिस की ओर से उपलब्ध साक्ष्य प्रस्तुत किए, उसी के आधार पर कोर्ट ने फैसला सुनाया.

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया The Lucknow Tribune के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें...
Loading...
-------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- -----------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
E-Paper