बदल गई तेजस ट्रेन की होस्टेस ड्रेस, अब ऐसे लुक में आएंगी नजर

लखनऊ. देश की पहली प्राइवेट ट्रेन तेजस एक्सप्रेस (Tejas Express) अपनी सुविधाओं और लुक को लेकर जितनी चर्चा में रही है, उतना ही इस ट्रेन ने होस्टेस की ड्रेस (Tejas Express Hostess Dress) को लेकर भी सुर्खियां बटोरी हैं। सोशल मीडिया पर अक्सर तेजस एक्सप्रेस के ट्रेन होस्टेस के कपड़ों की फजीहत उड़ती थी। कई लोगों ने उनकी ड्रेस को बदलवाने की मांग की। ट्रेन होस्टेस की ड्रेस पर घमासान को देखते हुए उनकी डिजाइनर ड्रेस बदल दी गई है। अब तेजस एक्सप्रेस की होस्टेस नई ड्रेस में यात्रियों का सत्कार करेंगी।

देश एक्सप्रेस देश की पहली ऐसी ट्रेन है जिसमें ड्रेस से लेकर खान पान तक की सुविधाएं एयरलाइन की तर्ज पर शुरू की गई हैं। तेजस एक्सप्रेस को बाकी ट्रेनों से अलग दिखाने के लिए ट्रेन के लुक से लेकर इसमें मिलने वाली सुविधाओं को पूरी तरह से हाईटेक रखा गया। ट्रेन होस्टेस की ड्रेस भी एयरलाइन के होस्टेस जैसी रखी गई। लेकिन कुछ लोगों ने महिला कर्मचारियों की ड्रेस पर आपत्ति जताते हुए इसे बदलवाने की मांग की। उनका कहना है कि तेजस होस्टेस को भारतीय संस्कृति के परिधान उपलब्ध कराए जाने चाहिए। लोगों ने उनकी ड्रेस को रेल मंत्री पीयूष गोयल के अकाउंट पर भी ट्वीट किया।

ट्रेन होस्टेस की ड्रेस पर मचे घमासान को देखते हुए रेलवे बोर्ड ने ड्रेस बदलने की प्रक्रिया शुरू कर दी। अब ट्रेन होस्टेस डिजाइनर कोटी वाली भारतीय परिधान में नजर आएंगी। सीआरएम अश्विनी श्रीवास्तव का कहना है कि ट्रेन होस्टेस की ड्रेस समय समय पर बदलने की प्रक्रिया का एक हिस्सा है। जिसे आने वाले समय में और आकर्षक बनाया जाएगा।

गौरतलब है कि पिछले साल चार अक्टूबर को लखनऊ जंक्शन से आईआरसीटीसी तेजस एक्सप्रेस की शुरुआत हुई थी। पहली बार एयरलाइन की तर्ज पर ट्रेन होस्टेस की सुविधा शुरू की गई। यात्रा शुरू करने से पहले यह होस्टेस उनका गेट पर अभिनंदन करती हैं। जबकि सीट पर खानपान सामग्री व पढऩे को मैगजीन भी उपलब्ध कराती हैं। हर यात्री के पास एक बटन लगा हुआ है। जिसे दबाते ही ट्रेन होस्टेस उनकी सेवा में हाजिर हो जाती हैं। बच्चों को संभालने जैसा दायित्व भी होस्टेस के पास है।

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया The Lucknow Tribune के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें...
Loading...
-------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- --------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- --------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- --------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
E-Paper