बांदा में पुजारी ने 10 साल के बच्चे को बंधक बनाकर किया दुष्कर्म

बांदा। उत्तर प्रदेश के बांदा जिले में तिंदवारी थाना क्षेत्र के एक पुजारी के खिलाफ दस साल के बालक को कथित तौर पर मंदिर में बंधक बनाकर उससे कुकर्म करने का मामला पुलिस ने रविवार को दर्ज किया है। थानाध्यक्ष नीरज कुमार सिंह ने सोमवार को बताया कि दस साल का बालक एक सप्ताह से अपने घर से लापता था।

वह शनिवार को पुजारी के कब्जे से छूट कर भाग निकला और खुद को बंधक बनाकर पुजारी चन्द्रशेखर बाबा द्वारा रोजाना कुकर्म किये जाने की सूचना दी। उन्होंने बताया कि बालक के चाचा की शिकायत पर पुजारी चन्द्रशेखर के खिलाफ धारा-377 आईपीसी और पॉक्सो एक्ट के तहत मामला दर्ज कर लिया गया है।

सिंह ने बताया कि आरोपी पुजारी मंदिर से फरार है और उसके ठिकानों पर छापेमारी की जा रही है।थानाध्यक्ष ने बताया कि चिकित्सकीय परीक्षण में बालक से कुकर्म किये जाने की पुष्टि हुई है।

प्रियंका गांधी वाराणसी पहुंची, सोनभद्र जा नरसंहार पीड़ितों से करेंगी मुलाकात

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया The Lucknow Tribune के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें...
Loading...
-------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- -----------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
E-Paper