बाबरी विध्वंस की बरसी पर यूपी में हाई अलर्ट, अयोध्या में भारी पुलिस बल तैनात

अयोध्या: बाबरी विध्वंस की बरसी पर कई संगठनों ने इस दिन (गुरुवार) को शौर्य और कई संगठनों ने काला दिवस के रूप में मनाने का ऐलान किया है। राज्य में सुरक्षा व्यवस्था बनाए रखने के लिए उत्तर प्रदेश पुलिस हाई अलर्ट पर है। वहीं अयोध्या की बात की जाए तो विशेष तौर पर सुरक्षा के इंतजाम किए गए हैं।

वहीं, सुप्रीम कोर्ट में चल रहे बाबरी मस्जिद राम जन्मभूमि मुकदमे में बाबरी मस्जिद के पक्षकार इकबाल अंसारी को एक बार फिर से पत्र भेजकर जान से मारने की धमकी दी गई है। इस बार पत्र भेजने वाले ने पत्र में ना सिर्फ इकबाल अंसारी को मुकदमा वापस लेने की धमकी दी है बल्कि बाबरी मस्जिद मुकदमे की वकालत कर रहे अधिवक्ता जफरयाब जिलानी के नाम का जिक्र भी इस पत्र में किया गया है। गौर हो कि बिते मंगलवार को पुलिस ने अयोध्या में फ्लैग मार्च भी निकाला था।

सुरक्षा के मद्देनजर अयोध्या में 6 कंपनी पीएसी, 2 कंपनी आरएएफ के साथ 4 एडिशनल एसपी, 10 डिप्टी एसपी, 10 इंस्पेक्टर, 150 सब इंस्पेक्टर और 500 सिपाहियों की तैनाती की गई है। इतना ही नहीं घरों की छतों से भी पुलिस निगरानी करेगी। शहर के सभी एंट्री पॉइंट्स पर बैरिकेडिंग की गई है और आने-जाने वाले सभी लोगों की सघन चेकिंग के आदेश जारी किए गए हैं। इसके साथ ही जिले में धारा 144 भी लागू है। अयोध्या में रूट डायवर्जन भी लागू कर दिया गया है जिसके तहत 4 पहिया वाहन टेढ़ी बाजार चौराहे से शहर की ओर नहीं बल्कि संपर्क मार्ग से होकर जाना होगा। इसके अलावा प्रशासन ने गैर परंपरागत कार्यक्रम पर रोक लगा दी है।

इसके अलावा प्रदेश भर के जिला कप्तानों के लिए डीजीपी मुख्यालय की तरफ से ​विस्तृत निर्देश जारी किए गए हैं। इनमें बस अड्डाें, रेलवे स्टेशन, महत्वपूर्ण सार्वजनिक स्थान और मिश्रित आबादी के क्षेत्रों में सतर्क दृष्टि रखने के लिए विशेष निर्देश दिए गए हैं।

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया The Lucknow Tribune के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें...
Loading...
-------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
E-Paper