बाराबंकी में विवाहिता की संदिग्ध अवस्था में मौत, पुलिस ने शुरू की जांच

बाराबंकी। उत्तर प्रदेश के बाराबंकी जनपद के थाना दरियाबाद अन्तर्गत बीती रात एक रेलकर्मी की पत्नी की संदिग्ध अवस्था में मौत हो गयी। जबकि मृतका के भाई ने ससुराल वालों के ऊपर पीट पीटकर हत्या का आरोप लगाया है। दरियाबाद पुलिस द्वारा मनमाने तरीके से मुकदमा दर्ज करने के कारण आज देर शाम पीएम हाउस में भाकियू कार्यकर्ताओं ने जमकर हंगामा काटा और पुलिस अधीक्षक से नये सिरे से एफआईआर दर्ज करके कार्यवाही की मांग की। मृतका के भाई ने पति सहित पांच लोगों पर दहेज हत्या का आरोप लगाते हुए तहरीर दी है। जबकि थाना प्रभारी पीएम रिपोर्ट आने के बाद कार्यवाही की बात कह रहे हैं।

जानकारी के अनुसार, थाना जैदपुर क्षेत्र के ग्राम मसरनपुर निवासी रामसजीवन चैहान ने अपनी पुत्री सुमिता चैहान की शादी 20 मई 2011 को थाना दरियाबाद क्षेत्र के ग्राम रानेमऊ निवासी रेलकर्मी सुदेश चैहान के साथ में धूमधाम से की थी। शादी के बाद पति पत्नी के बीच दो तीन वर्षो तक तो आपसी ताल मेल रहा लेकिन उसके बाद रेलकर्मी ने अपना असली चेहरा दिखाना शुरु कर दिया। पति की प्रताड़ना से तंग होकर सुमिता अपने मायके आकर रहने लगी और वहीं पर उसने अपने पति के विरुद्ध कोर्ट नम्बर 12 में वाद दाखिल कर दिया। लेकिन दो वर्षों तक मामला न्यायालय में चला तो उसके बाद पति और पत्नी के बीच सुलह समझौता हो गया। सुलह समझौता के बाद मृतका अपनी दो पुत्रियों के साथ ससुराल जाकर रहने लगी।

राखी सावंत को आया समझ जुबान में नहीं हाथ-पैरों में होनी चाहिए दम

आज प्रातः करीब 4 बजे ग्राम रानेमऊ के एक ग्रामीण ने रामसजीवन को फोन द्वारा सूचना दी कि उसकी पुत्री सुमिता की मौत हो गयी है आकर के देख लो। बेटी की मौत की सूचना मिलने पर मृतका का बड़ा भाई अर्जुन सबसे पहले ग्राम रानेमऊ पहुंचा तो उसने देखा कि उसकी बहन चारपाई पर पड़ी हुई है। शरीर पर चोट के काफी निशान दिखाई दे रहे हैं। मृतका के भाई का आरोप था कि सुदेश कुमार उसके बड़े भाई सुरेश कुमार, सास सुमरिता और ननद आदि लोग ने उसकी बहन को पीट पीटकर मार डाला है। अर्जुन ने इसकी सूचना दरियाबाद पुलिस को दी। सूचना मिलने के बाद मौके पर थाना प्रभारी दल बल के साथ पहुंचे और लाश का पंचनामा भरकर पोस्टमार्टम के लिये भेज दिया।

घटना के बारे में थाना प्रभारी दरियाबाद का कहना था कि पोस्टमार्टम रिपोर्ट आने के बाद ही मुकदमा दर्ज करके कार्यवाही की जायेगी। जबकि घटना के बाद से सभी आरोपी फरार हैं। वहीं दूसरी तरफ आज पीएम हाउस में देर शाम अम्बावता गुट के सुनील कुमार यादव की अध्यक्षता में कार्यकर्ताओं ने जमकर धरना प्रदर्शन किया और यह आरोप लगाया कि दरियाबाद पुलिस आरोपियों से मिली हुई है। जब तक पुलिस अधीक्षक आरोपी पुलिसकर्मियों के विरुद्ध कार्यवाही नही करते हैं तब तक प्रदर्शन जारी रहेगा।(शमीम अंसारी बाराबंकी)/ईएमएस 12/11/2018/

E-Paper