बारिश में बीमारियों से बचने के लिए बरतें सावधानी

नई दिल्ली: तपती गर्मी के बाद बारिश का मौसम निसंदेह तन और मन को राहत देने वाला होता है। दिल्ली-एनसीआर सहित पूरे उत्तर भारत में भी पिछले कुछ दिन से मौसम ने माहौल को सुहावना किया हुआ है। लेकिन बारिश अपने साथ खुशियां ही नहीं, बहुत सी बीमारियां भी साथ लेकर आती है। इस मौसम में डेंगू, सर्दी, इंफेक्शन्स, पेट की परेशानियां होना आम बात है। खासतौर पर बच्चों और बुजुगरे के बीमार पड़ने का खतरा इस मौसम में बढ़ जाता है।हालांकि विशेषज्ञों का कहना है कि कुछ सावधानियां बरतकर इन बीमारियों से बचना संभव है। घर बैठे स्वास्य जांच की सुविधा देने वाली फर्म हेल्थियंस से जुड़ी डॉ. धृति वत्स का कहना है कि कोई भी मौसम बीमारी नहीं लाता है, बल्कि बीमारी को बढ़ने का मौका देता है।

यही बात बारिश के साथ भी है। बारिश खुद बीमारी नहीं लाती, बल्कि बारिश में हमारी जरा सी लापरवाही किसी बीमारी को बढ़ने का मौका दे देती है। अगर हम जरा सी सावधानी बरत लें तो ऐसी बीमारियों से आसानी से बच भी सकते हैं। दक्षिणी दिल्ली नगर निगम की ओर से जारी हालिया रिपोर्ट के मुताबिक, जुलाई के पहले हफ्ते में दिल्ली में मलेरिया के 8 नए मामले सामने आए हैं। इससे पहले जून में 25 और मई में 17 मामले सामने आए थे। इस सीजन में मलेरिया के कुल 54 मामले सामने आ चुके हैं। डेंगू को लेकर स्थिति नियंतण्रमें है, लेकिन अब भी खतरे को शून्य तक लाने में वक्त लगेगा।

जुलाई के पहले हफ्ते में डेंगू के 3 मामले सामने आए हैं। इस सीजन में डेंगू के कुल 33 मामले सामने आए हैं। इस सीजन में चिकुनगुनिया के मामलों की संख्या 16 रही है। यह आंकड़े जुलाई के पहले हफ्ते तक के हैं। निसंदेह उसके बाद से दिल्ली-एनसीआर में मौसम बदला है। बारिश भी हो रही है, ऐसे में खतरा भी बढ़ रहा है। इन बीमारियों का खतरा जुलाई से सितंबर के बीच सबसे ज्यादा रहता है। विशेषज्ञों का कहना है कि खानपान और रहन-सहन में कुछ सावधानियां बरतकर इस मौसम में होने वाली कई गंभीर बीमारियों से बचा जा सकता है। सफाई का ध्यान रखकर मच्छरों को पनपने से रोका जा सकता है। यह अपने आप में कई बीमारियों से बचने में सहायक होगा।डॉ. वत्स बताती हैं कि हमारा शरीर खुद सबसे बड़ा डॉक्टर है। अगर इसका ध्यान रखें तो यह खुद बीमारियों को खत्म करने में सक्षम है। इसके लिए जरूरी है कि खानपान के जरिए इसे अंदर से ताकत देते रहें। बारिश में पानी सबसे ज्यादा प्रदूषित होने का खतरा रहता है। ऐसे में उबला हुआ पानी पीना चाहिए। यह भी ध्यान रहे कि पानी खूब पिएं, जिससे शरीर हाइड्रटेड बना रहे। इसके अलावा हरी सब्जियों का सेवन करें।

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया The Lucknow Tribune के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें...
Loading...
-------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- --------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- --------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- --------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
E-Paper