बिजनौर में मां ने बच्चियों के साथ खाया जहर, दो की मौत

लखनऊ: उत्तर प्रदेश के बिजनौर में एक दिल दहला देने वाला मामला सामने आया है। यहां के नहटौर थाना क्षेत्र में बहरमनगर इलाके में मां ने अपने दो बच्चियों के साथ जहर खा लिया। इसके बाद ससुरालीजन ने तीनों को प्राइवेट अस्पताल में भर्ती कराया, जहां पर गुरुवार की सुबह कुसुम और उसकी बच्ची खुशी की मौत हो गयी।

नहटौर थाने की पुलिस गुरूवार सुबह बहरमनगर में आरा मशीन पर काम करने वाले सुखबीर के घर पहुंची। बीती रात सुखबीर की पत्नी कुसुम ने दो बच्चियों निशी व खुशी के साथ जहर खा लिया था। सुबह कुसुम और खुशी की मौत होने के बाद थाने पर सूचना गयी तो पुलिस सक्रिय हुई। प्रभारी निरीक्षक ने ससुरालीजन के बयान दर्ज किये और पंचनामा की कार्यवाही पूरी कर शवों को पोस्टमार्टम के लिए भेजवाया।

सुहागिन स्त्रियों को क्यों जरूरी है सिंदूर लगाना, नहीं जानती तो आज जान लें

स्थानीय लोगों से पुलिस ने पूछताछ की तो उन्होंने बताया कि कुसुम और ससुरालीजन में कहासुनी होती रही। सुखबीर आरा मशीन पर मजदूरी करता और कभी फलों को ठेला लगाया था। उससे भी कुसुम से कहासुनी होती रही। बीती रात सभी शांत था, तभी मालूम हुआ कि कुसुम ने बच्चों के साथ जहर खा लिया है।

नहटौर थाना के प्रभारी निरीक्षक ने बताया कि पुलिस ने ससुराल वालों के बयान दर्ज कर लिए है। मृतक महिला के मायके वाले भी आ चुके है और वे घरेलू हिंसा का आरोप लगा रहें है। किसी प्रकार की तहरीर आने पर ही मुकदमा दर्ज किया जाएगा। उन्होंने बताया कि सुखबीर और कुसम के विवाह हुए 10 वर्ष से ज्यादा बीत चुके है। इनके चार बच्चे है। जिसमें एक बच्ची की मौत हो गयी है और दूसरी निशी अस्पताल में भर्ती है। उसका उपचार चल रहा है।

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया The Lucknow Tribune के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें...
Loading...
-------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ----------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
E-Paper