बिजनौर: हाईटेंशन लाइन की चपेट में आने तीन बच्चों की मौत

बिजनौर: उत्तर प्रदेश में बिजनौर जनपद के चांदपुर थाना क्षेत्रान्तर्गत गोयली इलाके में बुधवार को हाईटेंशन लाइन की तार के चपेट में आने से तीन बच्चों की मौत हो गयी। यह बच्चे सुबह मोटर साइकिल से घूमने के लिए निकले थे, तभी यह हादसा हुआ है। घटना के बाद गुस्साये परिवार ने शवों को सड़क पर रखकर बिजली विभाग के खिलाफ जमकर हंगामा किया।

पुलिस के मुताबिक, मामला चांदपुर थाना क्षेत्र के गोयली इलाके का है। बुधवार की सुबह मार्निंग वाक की बात कहकर तीन बच्चे मोटर साइकिल लेकर घर से निकल गये। बताया जा रहा है कि अभी वह कुछ ही दूर पर पहुंचे होंगे कि एक हाईटेशन लाइन का तार टूटकर उन पर आ गिरा और करंट की चपेट में आने से तीनों की दर्दनाक मौत हो गयी। घटना के बाद इलाके में अफरा-तफरी का माहौल बन गया।

जानकारी पर पहुंचे परिवार के लोग स्थानीय लोगों की मदद से सड़क पर शव रखकर बिजली विभाग के खिलाफ हंगामा शुरु कर दिया। बवाल की सूचना मिलते ही क्षेत्राधिकारी व चांदपुर थानाध्यक्ष मय फोर्स के साथ घटनास्थल पर पहुंचे और बवालियों को शांत कराने का प्रयास किया।

पुलिस अधीक्षक उमेश सिंह ने बताया कि हाईटेंशन लाइन की चपेट में आने से जिन बच्चों की मृत्यू हुई हैं। उनमें तारीक (12), शादिक, (13) और आसिफ (15) वर्ष हैं। पुलिस ने परिजनों को शांत कराया है और बिजली विभाग के खिलाफ तहरीर ले ली है।

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया The Lucknow Tribune के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें...
Loading...
-------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ----------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
E-Paper