बिजली विभाग का बड़ा तोहफा, नहीं लगेगा डेबिट और क्रेडिट कार्ड से लगने वाले शुल्क

लखनऊ : बिजली विभाग ने बड़ा तोहफा दिया है. क्रेडिट व डेबिट कार्ड वाले बिजली उपभोक्ताओं को बढ़ावा देने के लिए बिजली महकमे ने भुगतान के समय लगने वाले शुल्क को पूरी तरह से समाप्त कर दिया है। इसका सीधा फायदा मध्यांचल के उन्नीस जिलों में उन पचास हजार उपभोक्ताओं को मिलेगा, जो क्रेडिट व डेबिट कार्ड से ई निवारण ऐप और यूपीपीसीएल वेबसाइट पर जाकर करते थे। लखनऊ में ऐसे उपभोक्ताओं की संख्या सबसे अधिक 18 हजार से अधिक है।अब यह शुल्क यूपीपीसीएल देगा। उदाहरण के तौर पर अगर उपभोक्ता दो हजार बिजली का बिल डेबिट कार्ड से करता है तो उसे बीस रुपये अतिरिक्त देना होता था, अब बिजली महकमा देगा।

मध्यांचल एमडी सूर्य पाल गंगवार ने बताया कि यह व्यवस्था लागू कर दी गई है। घर बैठे ई-निवारण व यूपीपीसीएल वेबसाइट का लाभ उठाकर सीधे भुगतान कर सकता है। इससे हर माह मध्यांचल के ऊपर करीब पांच से छह लाख अतिरिक्त बोझ पड़ेगा, लेकिन इससे प्रेरित होकर उपभोक्ताओं में बिजली भुगतान को लेकर जरूर कुछ ललक बढ़ेगी। मध्यांचल के 19 जिलों में क्रेडिट कार्ड से बिल जमा करने वाले उपभोक्ताओं को कुल राशि पर 8 फीसद की छूट मिलेगी। इसी तरह डेबिट कार्ड से बिल भुगतान करने वालों को एक फीसद की छूट का प्रावधान है।

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया The Lucknow Tribune के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें...
Loading...
-------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ----------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
E-Paper