बिटिया को सामने देख फफक पड़े परिजन

लखनऊ: बिटिया को सामने देख लखीमपुर जनपद के जगरावनपुरवा से आयी राधा देवी आंखों में बरबस आंसू लिए अपनी गलती पर पछता रही थी। उसका कहना था कि बिटिया को पढ़ा लिखाने के लालच में आकर उसको घर से दूर भेज दिया लेकिन उसे क्या पता था कि तमाम प्रताड़ना सह रही है। यह नजारा बाल कल्याण समिति कार्यालय के सामने उस समय नजर आया जब मनीषा मंदिर आश्रयगृह से आयी चार बालिकाओं को उनके परिजनों को सौपा गया। चारों बालिकाओं की मां परिजनो व रिश्तेदारों के साथ अपनी लाडली बिटिया को लेने यहां गुरुवार को पहुंची थी। अब तक बाल कल्याण समिति ने पांच बालिकाओं को उनके परिजनों को बुलाकर घर भेजा है।

सबसे आश्चर्यजनक बात तो यह है कि मनीषा मंदिर आश्रय गृह से मुक्त करायी गयी सभी 14 लड़कियां लखीमपुर जनपद के विभिन्न गांवों की ही रहने वाली है। शेष बची नौ बालिकाओं को बाल कल्याण समिति सोमवार को उनके परिजनों को सौंपेगी। गोमतीनगर स्थित मनीषा मंदिर आश्रयगृह में प्रताड़ना की शिकार 14 बालिकाओं के मामले में गुरुवार को बाल कल्याण समिति के समक्ष चार परिजनों ने पहुंचकर बालिकाओं को सुपुर्द किये जाने की गुहार लगायी। बाल कल्याण समिति ने परिजनों से जरुरी कागजी कार्रवाई पूरी कराने के बाद चारों को उनके परिजनों को सौंप दिया गया।

लखीमपुर, सीतापुर से आ रहे रहस्यमय बुखार पीड़ित मरीज

मनीषा मंदिर आश्रय गृह से आजाद होकर बालिकाओं ने बाल कल्याण समिति के समक्ष प्रताड़ना किये जाने की तमाम शिकायतें की थी साथ ही यह भी कहा था कि उन्हें न तो भरपेट खाना दिया जाता था और न उन्हे ठीक कपड़े ही दिये जाते थे। बीमार होने पर भी उनका इलाज भी नहीं कराया जाता था। मामले की गंभीरता को देखते हुए बाल कल्याण समिति के सदस्यों ने सभी बालिकाओं को वहां से हटाते हुए राजकीय बालगृह शिशु व मोतीनगर स्थित राजकीय बालगृह बालिका में रखवा दिया था।

बाल कल्याण समिति ने जांच पड़ताल में यह भी पाया था कि यहां लायी गयी गयी सभी बालिकाओं को उचित शिक्षा दिलाने की बात कहकर लाया गया था लेकिन यहां पर उनका लगातार शोषण किया जाता था। बाल कल्याण समिति के सदस्यों के काफी प्रयासों के बाद इन बालिकाओं के घर का पता लगाकर परिजनों से बात करके उनको बुलाया गया था। बुधवार को एक अभिभावक लखीमपुर से आकर अपनी बच्ची को घर ले गया था। इसी क्रम में गुरुवार को बाल कल्याण समिति के समक्ष चार बालिकाओं की मां परिजनों के साथ अपनी बिटिया को लेने पहुंची।

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया The Lucknow Tribune के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें...
Loading...
-------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- --------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- --------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- --------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
E-Paper