बीएस6 मानक के चलते टीवीएस अपने 4 स्कूटर और बाइक कर सकता है बंद

नई दिल्ली: नए वाहनों के लिए बीएस6 मानक लागू होने में अब 10 दिन का समय बचा है। कंपनियां तेजी से अपने मॉडल्स को नए एमिशन नॉर्म्स के अनुरूप अपग्रेड कर रही हैं। टीवीएस ने अपने ज्यादातर स्कूटर और मोटरसाइकल को बीएस6 में अपग्रेड कर दिया है। हालांकि, कंपनी के कुछ टू-वीलर अभी नए एमिशन नॉर्म्स में अपग्रेड नहीं हुए हैं। माना जा रहा है कि इन मॉडल्स को बंद कर दिया जाएगा।

टीवीएस के पास चार कम्यूटर बाइक्स हैं, जिनमें स्टार सिटी प्लस, स्पोर्ट, रेडॉन और विक्टर शामिल हैं। इनमें विक्टर को छोड़कर कंपनी ने बाकी तीनों बाइक्स को बीएस6 में अपग्रेड कर दिया है। रिपोर्ट्स में कहा गया है कि विक्टर कंपनी की सबसे कम बिकने वाली कम्यूटर बाइक है, जिसके चलते कंपनी इसे बीएस6 में अपग्रेड नहीं कर रही, यानी इसे बंद कर दिया जाएगा। साथ ही पिछले कुछ महीनों से डीलर्स को भी इसका नया स्टॉक नहीं मिला है।

विक्टर के अलावा कंपनी अपने पॉप्युलर स्कूटर स्कूटी पेप प्लस को भी बंद कर सकती है। 90 के दशक में आया यह स्कूटर जबरदस्त पॉप्युलर रहा। रिपोर्ट्स में कहा गया है कि कंपनी इसे बीएस6 में अपग्रेड नहीं कर रही, क्योंकि इसे अपग्रेड करना कारोबारी लिहाज से फायदेमंद नहीं होगा। इन दोनों टू-वीलर्स के अलावा कंपनी ने टीवीएस स्कूटी जेस्ट 110 और टीवीएस वीगो को भी अभी बीएस6 में अपग्रेड नहीं किया है।

इन दोनों स्कूटर्स को भी बंद किया जा सकता है। हालांकि, कुछ रिपोर्ट्स में कहा गया है कि टीवीएस 1 अप्रैल से बीएस6 लागू होने के कुछ समय बाद इन चारों टू-वीलर्स में से किसी मॉडल को बीएस6 में अपग्रेड करके बाजार में उतार सकता है। फिलहाल इनमें से कोई मॉडल बीएस6 में उपलब्ध नहीं है।

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया The Lucknow Tribune के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें...
Loading...
-------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ----------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
E-Paper