बीजेपी ने बुक कराए देश के 60 फीसदी हेलीकॉप्टर

दिल्ली ब्यूरो: सबके अपने अपने दावे है। सब चुनाव जितने की बाते कर रहे हैं। सबकी चुनावी तैयारी है। सबके अपने वादे हैं। सबने एक दूसरे को गलत माना है। और सब जनता के सामने दंडवत खड़े हैं। जनता सब देख रही है ,समझ रही है लेकिन मौन है। इसी बीच चुनाव तैयारी की खबर सामने आती है। पता चलता है कि चुनाव की तैयारी में बीजेपी सबसे आगे है। भाजपा ने देश के हेलीकॉप्टर्स में से लगभग 60 फीसदी हेलिकॉप्टर बुक कर लिए हैं।

आलम यह है कि कांग्रेस या अन्य विपक्षी दल अब शिकायत कर रहे हैं कि उन्हें बुकिंग के लिए हेलीकॉप्टर मिल ही नहीं रहे हैं। खबर के अनुसार, देश भर में लगभग 260 हेलीकॉप्टर और लगभग 200 चार्टर्ड प्लेन हैं। चुनावों में इनकी डिमांड बहुत ज्यादा है। आश्चर्य की बात यह है कि ये सारे काफी पहले बुक किए जा चुके है। सूत्र बताते हैं कि भाजपा ने महीनों पहले ही हवाई जहाजों की बुकिंग करा ली है। भाजपा ने इनमें से 60 फीसदी से ज्यादा की बुकिंग कर ली है। बाकी के 40 फीसदी में कांग्रेस तथा अन्य क्षेत्रीय दल हैं।

खर्चे की बात करें तो आम दिनों के मुकाबले चुनावों के समय हेलिकॉप्टर के प्रति घंटे के किराए दोगुने से तिगुने तक हो गए हैं। इस तरह से एक नेता के एक दिन के प्रचार के लिए पार्टियों को 10-15 लाख रुपए तक खर्च करना पड़ेगा। यहां तक कि हेलिकॉप्टर के खड़े रहने के बाद भी उसका किराया देना होगा।जानकार मानते हैं कि इस बार के चुनाव प्रचार के लिए जितनी आक्रामक तरीके से हेलिकॉप्टर की बुकिंग हुई है, वैसी बुकिंग पहले कभी नहीं हुई। हालांकि, हेलिकॉप्टर सीमित हैं इसलिए बीजेपी के पहले ही बुकिंग के बाद कई पार्टियां इसमें पीछे रह गईं।

पहले बुकिंग का मतलब अपनी कैपेंनिंग को तेज करने के साथ ही विपक्षी पार्टी की कैपेनिंग को धीमा करना भी है। इसके साथ ही हेलिकॉप्टर और चार्टेड प्लेन कंपनियों की भी चांदी हो गई है। जो कंपनियां आमतौर पर घंटों के हिसाब से हेलिकॉप्टर की बुकिंग करती थीं। अब वह पूरे चुनाव सीजन के लिए बुकिंग कर रही हैं। देश में सबसे ज्यादा हेलिकॉप्टर पवन हंस और ग्लोबल वेक्ट्रा हेलीकॉर्प के पास है। इसके अलावा चार्टर्ड प्लेन कंपनियों क्लब वन एयर और ताज एयर के पास प्लेन की अच्छी फ्लीट है।

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया The Lucknow Tribune के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें...
Loading...
-------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
E-Paper