बुलंदशहर हिंसा का मुख्य आरोपी योगेश राज एक महीने बाद गिरफ्तार

बुलंदशहर: उत्तर प्रदेश के बुलंदशहर में 3 दिसंबर को गोकशी को लेकर हुई हिंसा के मामले में पुलिस को आज सुबह बड़ी सफलता हासिल हुई है। यूपी पुलिस ने बुलंदशहर हिंसा के मुख्य आरोपी और बजंरग दल के नेता योगेश राज को गिरफ्तार कर लिया है।

गौर हो कि योगेश राज एक महीने से फरार चल रहा था, जिसकी तलाश में पुलिस जगह-जगह पर छापेमारी कर रही थी। वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक प्रभाकर चौधरी के अनुसार सूचना के आधार पर पुलिस टीम ने योगेश राज को बुधवार देर रात खुर्जा क्षेत्र के ब्रह्मानंद कॉलेज के पास से गिरफ्तार कर लिया । इस मामले में पुलिस ने अब तक 32 आरोपियों को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया है।

बता दें कि योगेश राज हिंसक भीड़ को भड़काने का आरोप है। हालांकि इस हिंसा के एक माह के बाद भी 12 आरोपी पुलिस की पकड़ से दूर हैं। बीते तीन दिसंबर को स्याना कोतवाली के चिंगरावठी चौकी क्षेत्र में गोकशी के बाद हुए बवाल में इंस्पेक्टर सुबोध कुमार और युवक सुमित की गोली लगने से मौत हो गई थी।

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया The Lucknow Tribune के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें...
Loading...
-------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ----------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
E-Paper