बड़ी पहल : अब प्राइवेट हॉस्पिटल होंगे कोरोना अस्पतालों में तब्दील

लखनऊ : यूपी में कोरोना वायरस के बढ़ रहे संक्रमण को देखते हुए संदिग्ध मरीज व पॉजिटिव पाए गए मरीज के इलाज के लिए त्रिस्तरीय व्यवस्था की जा रही है। ऐसे में अब स्वास्थ्य विभाग निजी अस्पतालों और नर्सिंग होम को कोविड-19 अस्पतालों में तब्दील करेगा। मदद करने के लिए खुद निजी अस्पताल व नर्सिग होम संपर्क कर रहे हैं।

प्रमुख सचिव चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अमित मोहन प्रसाद ने बताया कि जरूरत पडऩे पर निजी अस्पताल व नर्सिंग होम कोविड-19 अस्पतालों में तब्दील किए जाएंगे। प्रदेश में अभी पांच हजार आइसोलेशन बेड का इंतजाम किया गया है और आगे यह संख्या बढ़कर 15 हजार हो जाएगी। इसमें कोरोना पॉजिटिव पाए गए मरीज भर्ती किए जाएंगे। उन्होंने बताया कि 20 हजार क्वारंटाइन बेड तैयार किए जाएंगे।

इसके अलावा कोरोना वायरस से संक्रमित मरीजों का इलाज कर रहे डॉक्टरों के लिए होटलों व गेस्ट हाउस में क्वारंटाइन बेड तैयार किए जाएंगे। स्वास्थ्य विभाग, आवास विकास परिषद व अन्य विभागों के गेस्ट हाउस और निजी क्षेत्र के होटलों में बेड तैयार करेगा।

अभी जो डॉक्टर कोरोना वायरस से संक्रमित मरीजों का इलाज कर रहे हैं, उन्हें अस्पतालों में ही अलग क्वारंटाइन बेड बनाकर रखा जा रहा है, ताकि उनके परिजनों में इसका संक्रमण ना फैले।

दूसरी ओर केंद्रीय विद्यालयों, नवोदय विद्यालयों, सरकारी व प्राइवेट विद्यालयों और निजी संस्थानों में आम लोगों के लिए क्वारंटाइन बेड तैयार किए जा रहे हैं। हफ्ते भर के अंदर छह हजार क्वारंटाइन बेड तैयार कर लिए जाएंगे और आगे इनकी संख्या बढ़ाकर 20 हजार की जाएगी। उधर सरकारी पॉलीटेक्निक संस्थानों के हॉस्टल में एक हजार से अधिक बेड तैयार कर लिए गए हैं ।

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया The Lucknow Tribune के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें...
Loading...
-------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ----------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
E-Paper