भाजपा के संभावित उम्मीदवारों की धड़कन बढ़ी

रांची: भारतीय जनता पार्टी की केंद्रीय चुनाव समिति की बैठक में शुक्रवार शाम को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह ने झारखंड के लिए पार्टी उम्मीदवारों के नाम पर चर्चा की। इस बैठक में नरेंद्र मोदी और अमित शाह ने एक-एक सीटों का हिसाब लिया और उम्मीदवारों के नाम की घोषणा के पहले सभी पहलुओं पर विचार-विमर्श किया गया।

नई दिल्ली स्थित पार्टी मुख्यालय में मोदी और शाह की उपस्थिति में आयोजित केंद्रीय चुनाव समिति की बैठक में झारखंड के मुख्यमंत्री रघुवर दास, प्रदेश प्रभारी मंगल पाडेंय, प्रदेश अध्यक्ष लक्ष्मण गिलुवा, केंद्रीय मंत्री जयंत सिन्हा, और सुदर्शन भगत भी शामिल थे। प्रदेश अध्यक्ष लक्ष्मण गिलुवा के अलावा दोनों केंद्रीय मंत्री जयंत सिन्हा तथा सुदर्शन भगत और पूर्व मुख्यमंत्री अर्जुन मुंडा भी टिकट के दावे दाव दावेदार है। गिलुवा अभी चाईबासा, जयंत सिन्हा हजारीबाग तथा सुदर्शन भगत लोहरदगा से सांसद हैं, वहीं अर्जुन मुंडा को खूंटी से चुनाव मैदान में उतारे जाने की चर्चा हे। इससे पहले उम्मीदवारों के चयन के मसे को लेकर रघुवर दास और प्रभारी मंगल पांडेय के बीच उम्मीदवारों के नाम को लेकर विचार मंथन हुआ था। इस बैठक में विपक्ष की तरफ से कौन उम्मीदवार हो सकता है तथा वोटों के समीकरण क्या हैं इस बारे में भी चर्चा हुई है। संकेत मिल रहे हैं कि शनिवार की शाम तक कुछ उम्मीदवारों की सूची जारी हो सकती है।

पीएम मोदी ने राम मनोहर लोहिया का जिक्र कर कांग्रेस और समाजवादी दलों पर हल्लाबोला

झारखंड में चैथे,पांचवें, छठे और सातवें चरण में मतदान होना है,ऐसी स्थिति में अभी चुनाव अधिसूचना जारी होने में देर होने के कारण केंद्रीय नेतृत्व पहले उन सीटों के लिए उम्मीदवारों के नाम को अंतिम रूप देने में जुटा है,जहां पहले और दूसरे चरण के चुनाव के लिए अधिसूचना जारी हो चुकी है और नामांकन का सिलसिला जारी है। वहीं जिस तरह से उत्तर प्रदेश, बिहार समेत कई अन्य राज्यों में भाजपा के कई वत्र्तमान सांसदों का टिकट कट चुका है,वैसे स्थिति में झारखंड में भी पार्टी के अंदर संभावित उम्मीदवारों की धड़कन बढ़ गयी है।

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया The Lucknow Tribune के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें...
Loading...
-------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ----------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
E-Paper