भारत में तो ट्रैफिक नियम तोड़ने पर सिर्फ चालान कटता है, लेकिन इस देश में पड़ते हैं 80 कोड़े

नई दिल्ली: भारत में 1 सितंबर से नया मोटर व्हीकल एक्ट लागू हुआ है। इसके तहत सड़क के नियमों का उल्लंघन करना लोगों को भारी पड़ रहा है। दिल्ली में एक व्यक्ति के कागजान नहीं पाए जाने पर उनकी स्कूटी का 23 हजार का चालान काट दिया गया। जबकि स्कूटी की कीमत 15000 थी। इसे लेकर उन्होंने सोशल मीडिया पर अपनी व्यथा प्रकट की थी। इसके अलावा अलग-अलग मामलों में साढ़े 32 हजार से लेकर लोगों के 10 हजार तक के चालान काटे जा चुके हैं। इतने ज्यादा चालान को लेकर लोग भले ही अपना रोष प्रकट कर रहे हैं लेकिन भारत में चालान के तौर पर सिर्फ पैसा ही लगता है। एक ऐसा देश है जहां ट्रैफिक रूल तोड़ने पर कोड़े की सजा मिलती है।

भले ही लोग कह रहे हैं कि सरकार ने बहुत कड़े प्रावधान कर दिए हैं। इसकी जरूरत नहीं थी। लोगों का कहना है कि मामूली नियम तोड़ने पर इतना जुर्माना लगाना ठीक नहीं है।आपको बता दें कि इतना सख्त कानून सिर्फ हमारे देश में ही लागू नहीं हैं। दूसरे देशों में ट्रैफिक नियमों को लेकर क्या हाल है? हमने इसी सवाल का जवाब तलाशने की कोशिश की है। अबू धाबी में नशे में गाड़ी चलाने के लिए एक शख्स को 80 कोड़े मारने की सजा दी गई थी। ईरान में तेज रफ्तार में गाड़ी चलाने पर एक साल की सजा का प्रावधान है। सऊदी अरब में सख्त नियम कायदे बनाए गए हैं।

एशियाई देशों के कानून
एशियाई देशों में नशे में गाड़ी चलाने पर सख्त सजा और जुर्माने का प्रावधान है। ये ज्यादातर एशियाई देशों में लागू है। ताइवान जैसे देश में नशे में गाड़ी चलाने पर 2 साल की सजा और 6700 डॉलर यानी करीब 4 लाख 82 हजार रुपए के जुर्माने का प्रावधान है। अगर नशे की हालत में गाड़ी से एक्सीडेंट हो जाता है तो 7 साल की सजा और एक्सीडेंट में किसी की मौत की हालत में 10 साल की जेल की सजा का प्रावधान है।

यूरोपिय देशों के नियम

यूरोपिय देशों में भी गलत तरीके से गाड़ी चलाने पर सख्त सजा और जुर्माना लगाया जाता है। हॉलैंड में तेज रफ्तार में गाड़ी चलाने पर गाड़ी हमेशा के लिए जब्त कर ली जाती है। फिनलैंड में भी तेज रफ्तार गाड़ी चलाने पर सख्त सजा का प्रावधान है। वहां जुर्माने की रकम गाड़ी की रफ्तार और दोषी व्यक्ति की सालाना इनकम देखकर लगाई जाती है। एक अरबपति को तेज रफ्तार में गाड़ी चलाने का जुर्माना भरना पड़ा। उसे 5 लाख पाउंड यानी करीब 4 करोड़ 37 लाख रुपए जुर्माना देना पड़ा।

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया The Lucknow Tribune के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें...
Loading...
-------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ----------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
E-Paper