भ्रष्टाचार के खिलाफ जेपी के विचार आज भी प्रासंगिक: राज्यपाल

लखनऊ ब्यूरो ।उत्तर प्रदेश के राज्यपाल राम नाईक ने गुरुवार को सम्पूर्ण क्रांति के नेता जयप्रकाश नारायण (जेपी) की जयंती पर उन्हें याद करते हुए उनके प्रति श्रद्धांजलि व्यक्त की है। उन्होंने कहा कि जातीयता, भ्रष्टाचार व असमानता को दूर करने में जेपी के विचार आज भी प्रासंगिक हैं।

राज्यपाल ने कहा कि लोकनायक जयप्रकाश के विचारों से ऊर्जा प्राप्त होती है। उनमें अद्भुत संगठनात्मक शक्ति थी। उन्होंने स्वाधीनता आन्दोलन व आपातकाल में अहम भूमिका निभायी। वे युवाओं के नेताओं के रूप में जाने जाते थे।

नाईक ने कहा कि उनका मानना था कि ‘भ्रष्टाचार मिटाने, बेरोजगारी दूर करने, शिक्षा में क्रांति लाने के लिये सम्पूर्ण क्रांति आवश्यक है।’ वे राजनैतिक, आर्थिक, सामाजिक, शैक्षणिक एवं बौद्धिक क्रांति के पक्षधर थे। राज्यपाल ने बताया कि जेपी के साथ आपातकाल के पूर्व व बाद में उन्हें काम करने का अवसर मिला। वे छोटे से छोटे कार्यकर्ता को भी अपनी बात रखने का अवसर देते थे और उन्हें प्रोत्साहित करते थे।

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया The Lucknow Tribune के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें...
loading...
E-Paper