मंगलवार के दिन भूल से भी न करे ये पांच काम

ज्योतिष शास्त्र में शकुन व अपशकुन की मान्यता का बहुत ज़्यादा महत्व होता है। रोज़ाना की दिनचर्या की जिंदगी में होने वाली छोटी-छोटी बातों से हमे भविष्य में होने वाली शुभ और अशुभ सभी घटनाओं की जानकारी मिल जाती है। शकुन यानी की भविष्य में होने वाली अच्छी बातों के संकेत होता है और अपशकुन भविष्य में आने वाली परेशानियां का संकेत देते है।

मंगल का दिन है मंगलवार

मंगलवार का कारक ग्रह मंगल होता है। मंगल देव सभी ग्रहों के सेनापति हैं और मेष-वृश्चिक राशि के स्वामी भी हैं। किसी की भी कुंडली में मंगल की स्थिति बहुत ज़्यादा महत्वपूर्ण होती है। अगर मंगल शुभ होता है तो मनुष्य को भूमि और भवन से संबंधित काफी सारे लाभ मिलते हैं, माता का सहयोग भी मिलता है। जबकि मंगल अशुभ होने की वजह से वैवाहिक जीवन में काफी सारी परेशानियों का सामना भी करना पड़ता है।

मंगलवार के दिन होती है हनुमानजी की विशेष पूजा

श्रीरामचरित मानस के कहे अनुसार हनुमानजी का जन्म मंगलवार के दिन ही हुआ था। इसी कारण आज भी हर मंगलवार को हनुमानजी के मंदिरों में भक्तों की काफी भीड़ उमड़ी रहती है। मंगलवार के दिन हनुमानजी के दर्शन करने से सभी के दुख-दर्द दूर हो जाते हैं।

मंगलवार के दिन भूल से भी ना करें ये काम माना जाता है अपशकुन

1. नेल कटर का इस्तेमाल न करें।

2. बाल भी न कटवाएं, और ना ही दाढ़ी बनवाएं।

3. भूल से भी धार वाली चीजें न खरीदें। जैसे कि चाकू, छुरी और कैंची वगेरह।

4. माता से तेज़ आवाज में बात न करें।

5. मंगलवा के दिन घर में मांसाहार न पकाएं।

मंगलवार के दिन करे ये खास उपाय

मंगलवार के दिन हनुमानजी के सामने चमेली के तेल का दीया जलाएं।

शिवलिंग पर लाल रंग का फूल चढ़ाएं।

मंगल ग्रह के लिए लाल मसूर की दाल का दान करें।

गाय को हरी-हरी घास खिलाएं।

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया The Lucknow Tribune के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें...
Loading...
----------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------ ------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
E-Paper