मध्य प्रदेश सरकार पाला पीड़ित किसानों के साथ : कमलनाथ

भोपाल: मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री कमलनाथ ने पाला प्रभावित किसानों को भरोसा दिलाया है कि राज्य सरकार उनके साथ है, किसान धैर्य रखें, दो जनवरी को पाला प्रभावित किसानों की स्थिति पर अफसरों की बैठक भोपाल में बुलाई गई है। राज्य में बीते दो दिनों में पाला पड़ने से बड़ी मात्रा में फसलों को नुकसान हुआ है।

कई क्षेत्रों में तो किसान बर्बादी की कगार पर पहुंच गए हैं। हर तरफ से आ रही फसल नुकसान की खबरों के बीच मुख्यमंत्री कमलनाथ ने ट्वीट कर किसानों को मदद का भरोसा दिलाया है। मुख्यमंत्री कार्यालय की ओर से किए गए ट्वीट में कहा गया है कि पाला प्रभावित सभी जिलों के आयुक्तों को ऐसी फसल के त्वरित सर्वे का निर्देश दिया गया है।

ट्वीट के अनुसार, मुख्यमंत्री कमलनाथ ने फसलों पर पड़े विपरीत असर को संवेदनशीलता से लिया है। उन्होंने विभागीय अधिकारियों से इस विषय में विस्तार से जानकारी ली है। मुख्यमंत्री ने इस पर चिता व्यक्त करते हुए कहा है कि किसान भाई धैर्य रखें, सरकार आप के साथ है। एक अन्य ट्वीट में कहा गया है कि मुख्यमंत्री दो जनवरी को पाला प्रभावित फसल के संबंध में विभागीय अधिकारियों के साथ भोपाल में बैठक करेंगे।

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया The Lucknow Tribune के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें...
Loading...
-------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ----------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
E-Paper