मनोज तिवारी ने किया दीपिका को सपोर्ट, कहा- वह देशभक्त हैं उन्हें गुमराह किया जा रहा है

नई दिल्ली। बॉलीवुड अभिनेत्री दीपिका पादुकोण (Deepika Padukone) के जवाहर नेहरु विश्वविद्यालय (JNU) जाने के बाद छिड़े विवाद पर भारतीय जनता पार्टी (BJP) के कई नेताओं ने उनकी फिल्मों के बहिष्कार की बात कहीं है, मगर इसके उलट दिल्ली बीजेपी अध्यक्ष और सांसद मनोज तिवारी (Manoj Tiwari) ने उन्हें देशभक्त बताया है और कहा है कि उन्हे कोई गुमराह कर रहा है।

मनोज ने दीपिका के जेएनयू (JNU) जाने के सवाल पर कहा है कि उन्हें स्पष्ठ करना चाहिए कि वह वहां किसका समर्थन करने गई थी। वह कहते हैं कि बेशक दीपिका जेएनयू गई थी मगर इसका मतलब यह नहीं है कि वह देशद्रोही हैं। वह कहते हैं कि उनकी फिल्म छपाक (Chhapaak) का बहिष्कार नहीं होना चाहिए। वह एक देशभक्त सुपरस्टार हैं उन्हें कोई गुमराह कर रहा हैं।
दो से अधिक संतान पैदा करने वालों को मतदान से वंचित रखा जाए: प्रवीण तोगडिया

मनोज ने कहा कि मुझे लगता है कि दीपिका वहां छात्रों के साथ हुई हिंसा का विरोध करने गई थी। हिंसा का विरोध करना गलत नहीं हैं। लेकिन मुझे लगता है उनको गुमराह किया गया था। वह वहां टुकड़े-टुकड़े गैंग के सरगना के साथ खड़ी थी जो कि इंडियन आर्मी (Indian Army) मुर्दाबाद के नारे लगाते हैं।

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया The Lucknow Tribune के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें...
Loading...
-------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ----------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
E-Paper